अनुमंडल पदाधिकारी ने क्यू कॉम्प्लेक्स में वैक्सीनेशन प्रारंभ करने हेतु की जा रही तैयारियों को लेकर अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश



उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री के निर्देशानुसार आज दिनांक 15.05.2021 को अनुमंडल पदाधिकारी सह अनुमंडल दंडाधिकारी, देवघर  दिनेश कुमार यादव ने क्यू कॉम्प्लेक्स का निरीक्षण कर 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन को लेकर बनाये जा रहे सेंटर की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस क्रम में उन्होंने जानकारी दी कि वर्तमान में नए सदर अस्पताल एवं पुराने सदर अस्पताल में वैक्सीनेशन हेतु लोगों की लम्बी कतार लग रही है, जिससे कोविड नियमों के पालन में कठिनाई उत्पन्न हो रही है एवं लोगों को भी कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में कोविड नियमों के शत- प्रतिशत अनुपालन व लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए आगामी 17 मई से Cowing वेबपोर्टल पर https://www.cowin.gov.in अपना निबंधन करा चुके लोगों को जिला प्रशासन द्वारा क्यू काम्प्लेक्स को 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन हेतु वैक्सीनेशन सेंटर के रूप में चिन्हित किया गया है, ताकि सामजिक दूरी व आवश्यक नियमों का पालन करते हुए लोगों का यहाँ वैक्सीनेशन कराया जा सके। 

इस दौरान अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा क्यू कॉम्प्लेक्स के वैक्सीनेशन सेंटर बनाये जाने हेतु की जाने वाली सभी आवश्यक तैयारियों व व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया। साथ हीं उनके द्वारा वहाँ उपलब्ध संसाधनों को और भी दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया। उन्होंने ने स्वास्थ्य विभाग की टीम व संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर में मरीजों की संख्या बहुत तेजी से वृद्धि हो रही है। ऐसे में आवश्यक है कि अधिक से अधिक सावधानी बरती जाय। वैक्सीनेशन के लिए लोगों को कतारबद्ध करने हेतु रूट लाइन निर्धारित करते हुए प्रत्येक 6 फ़ीट की दूरी पर गोला बनाया जाए एवं उसी अनुसार लोगों को कतारबद्ध करना सुनिश्चित किया जाए। साथ हीं वैक्सीनेशन के दरम्यान इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि कोविड नियमों का शत-प्रतिशत अनुपालन हो एवं यहाँ आने वाले किसी भी व्यक्ति को किसी प्रकार की कोई कठिनाई का सामना न करना पड़े। इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं अभी से हीं दुरुस्त कर लें। इसके अलावा क्यू कॉम्प्लेक्स वैक्सीनेशन सेंटर में मेडिकल कचरा निस्तारण, साफ-सफाई, सेनेटाइजेशन, पेयजल व्यवस्था आदि का भी विशेष ध्यान रखा जाए। 

No comments