उधवा चौक में हर सुबह सजती हैं बालू की मंडी, प्रशासन जानते हुए भी बना है अनजान।



उधवा :-- साहिबगंज जिला के उधवा प्रखंड मे सबसे ज्यादा बालू तस्करी हो रहा है। थाना के सामने से पार करने पर देना होगा नजराना। जानकारी के अनुसार राधानगर थाना से महज 1 किलोमीटर दूरी पर सुबह-सुबह सैकड़ों बालू गाड़ी का मंडी सजती हैं। जिसमें मनमानी दामों पर बेचा जा रहा है। मनमानी दामों पर बेचने का मुख्य कारण प्रशासन द्वारा बालू गाड़ी मालिकों पर उत्पीड़न किया जाना है। ज्ञात हो कि बरहेट, रंगा आमडापाड़ा आसपास जैसे क्षेत्र से लाया जाता है बालू। गाड़ी लाने के क्रम में हर एक थाना को कुछ न कुछ नजराना देना पड़ता है। आपको बता दें कि सिर्फ राधा नगर थाना के नाम से क्षेत्र के दलाल द्वारा प्रति गाड़ी ₹200 राधानगर थाना प्रभारी के नाम से लिया जाता है।आगे यहां तक खबर है की बरहेट से उधवा तक बालू गाड़ी लाने पर थाने में ₹800 प्रति गाड़ी अधिक नजराना देना पड़ता है। अगर एक गाड़ी में दो सौ रुपए तो प्रतिदिन 100 गाड़ी आता है अर्थात ₹20000 एक दिन में और महीने में छःलाख कमाई होता है। प्रशासन द्वारा लिया गया ₹800 उन गरीब बालू बिक्रेता को भुगतना ही पड़ता है. अगर ₹800 प्रशासन द्वारा नहीं लिया जाता तो क्षेत्रवासियों को हर एक बालू गाड़ी क्रय करने में काम पैसा लगता। देखा जाए तो आम जनता को लूटने वाला सबसे पहला प्रशासन है। इस संबंध में राधानगर थाना प्रभारी कुंदन कांत ने आरोप को निराधार बताते हुए कहा यह सब अफवाह है, अगर मेरे नाम से किसी तरह की कोई वसूली हो रही है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।


No comments