कृषि मंत्री ने देवघर उपायुक्त सिविल सर्जन एवं प्रशासनिक पदाधिकारी के साथ की बैठक



देवघर 7 अप्रैल, सुबे के कृषि एवं पशुपालन मंत्री बादल पत्रलेख ने कोविड-19 महामारी के लेकर देवघर परिसदन में देवघर उपायुक्त, सिविल सर्जन एवं प्रशासनिक पदाधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की। बैठक के पूर्व जिला कांग्रेस कार्यालय में चल रहे कोविड-19 महामारी को लेकर चल रहे कंट्रोल रूम पहुंँचकर वहाँ का जायजा लिया।  सेंटर द्वारा अब तक कोविड-19से बीमार ग्रस्त मरीजों को पहुंँचाए गए सहयोग के लिए जानकारी लिया। अब तक कोरोना से संक्रमित मरीज तथा अन्य बीमार ग्रस्त लोगों को कंट्रोल रूम के हेल्पलाइन पर प्राप्त समस्या का समाधान की कुल संख्या 310 बताई गई। मंत्री ने देवघर जिला कांग्रेस द्वारा संचालित इस कंट्रोल रूम के कार्यप्रणाली से संतुष्ट होकर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय के साथ कंट्रोल रूम संचालक डॉ अनूप कुमार, अवधेश प्रजापति एवं मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल के साथ तमाम जिले के नेता और कार्यकर्ताओं को इस सेवा भाव से किए जा रहे कार्य के लिए आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की कोविड -19 के प्रकोप से उबरने के लिए ईलाज व्यवस्था एवं अन्य प्रकार के कार्यप्रणाली से संतुष्ट होकर माननीय उच्च न्यायालय रांची ने संतुष्टि जताई,जो.सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि है। आगे भी इस मामले पर सरकार के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ प्रदेश अध्यक्ष-सह- वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव एवं स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता काफी गंभीर हैं। राज्य में कोरोना मरीज के ईलाज की कोई कमी नहीं होने देगी। लोग घबराए नहीं, किसी प्रकार के अफवाह में नहीं आऐं। सरकार ने इस महामारी को निबटने के लिए पूरी मुस्तैदी से समुचित व्यवस्था कर ली है। कोविड हास्पिटल में पर्याप्त बैड और आक्सीजन सिलेंडर आदि की व्यवस्था कर ली गई है और जरूरत अनुसार आगे भी की जा रही है। जांच और टीकाकरण भी नियमित जारी है। हर सहिय को ऑक्सीमीटर दिया जा रहा है जो प्रारंभिक स्तर यानी गांव स्तर पर ही जांच करके मरीजों को उचित सलाह देंगें। मजदूरों को रोजगार के लिए मनरेगा तहत् हर गांव में योजना लेने का आदेश जारी कर दिया गया है। नये राशनकार्ड जारी कर आबंटन दिए जा रहे हैं।

No comments