अपने सुख-चैन का त्याग कर दूसरों की भलाई के लिए काम करने वाले आपके जज्बे को सलाम:- मंजूनाथ भजंत्री



अंतराष्ट्रीय नर्स डे के अवसर पर उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि अपने सुख-चैन का त्याग कर दूसरों की भलाई के लिए काम करने वाले आपके जज्बे को सलाम।

वर्तमान में ये कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि नर्स दीदियों का हमारे जीवन में काफी महत्व है। या यूं भी कह सकते हैं कि हमें स्वास्थ्य रखने में नर्सों की बड़ी भूमिका होती है। अपने सुख-चैन को त्याग कर दूसरों की भलाई के लिए काम करती हैं। आज कोरोना संकट में हमारे लिए अपनी जान की परवाह किये बिना जिस तरह वो अपना कर्तव्य निभा रही हैं, वो समाज के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

आज अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर एक छोटी सी पहल करते हैं। अपने आसपास के नर्सों, स्वास्थ्यकर्मियों और चिकित्सकों का धन्यवाद और अभिवादन करते हैं।

ज्ञात हो कि हर साल 12 मई को अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाता है जिसका एकमात्र उद्देश्य स्वास्थ्य क्षेत्र में नर्सों के कार्यों की सराहना करना और उनके प्रति सम्मान व्यक्त करना हैं। आज का दिन फ्लोरेंस नाइटिंगेल के जन्म की वर्षगांठ का भी प्रतीक है।

■  नर्स दीदियों व स्वास्थ्य कर्मियों का सम्मान करना हम सभी का कर्तव्य:-उपायुक्त....

इसके अलावे उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने सभी सरकारी व निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों के ईलाज हेतु दिन-रात कार्य करने वाली नर्स दीदियों को आभार प्रकट करते हुए कहा कि आज कोविड-19 के इस जंग में नर्स दीदियों का कार्य सराहनीय है। जिस प्रकार निजहित से परे हटकर निःस्वार्थ भाव से कोरोना संक्रमित मरीजों की सेवा कर रही हैं एवं उनके बेहतर ईलाज हेतु पूरे तत्परता के साथ जुटी हुई हैं, वह हम सभी के लिए अनुकरणीय और प्रेरणादायक है।

No comments