जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष



दोनों पक्षों से एक गर्भवती महिला समेत दर्जन भर लोग घायल, एक की हालत नाजुक


थाने में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी




सारठ : थाना क्षेत्र के कालीजोत गांव मे सोमवार सुबह लगभग 8 बजे के करीब जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। जिसमें एक दर्जन लोग घायल हो गये। वहीं सभी घायलों को सारठ सीएचसी लाया गया जहां सभी का प्राथमिक उपचार किया गया और कई की स्थिति गंभीर देख उसे बेहतर इलाज के लिए देवघर रेफर कर दिया गया है।

घटना के संदर्भ में प्रथम पक्ष के घायलों के परिजनों द्वारा बताया गया कि सुबह लगभग 8 बजे रहमान मियां के घर के बगल में सोहराब मियां की बाड़ी है, जिसे रहमान मियां का पुत्र मोजाहिद अंसारी ने खरीद लिया है। लेकिन उस बाड़ी मे सोहराब मियां अपने परिवार के सदस्यों के साथ ट्रेक्टर से हल जोतवा रहा था। जिसे देख रहमान मियां मना करने गया तो दोनों के बीच कहासुनी होने लगी। तभी सोहराब मियां अपने परिवार के 8-10 लोग के साथ रहमान मियां को मारने के लिए उतारू हो गये। बताया गया कि रहमान मियां माहौल को भांपते हुए घर भाग गये। लेकिन पीछे से रजाउल मियां, फारुख अंसारी, फुरकान मियां, इसारूद्दीन, बरजहाँ, मुस्तकार, सेहरा बीबी, सलीमा बीबी, कदिरन बीबी हर्वे-हथियार से लैस होकर उनके आँगन में चले गये और मारपीट करने लगे। बीच बचाव करने आये चिराउद्दीन अंसारी को रजाउल अंसारी ने सिर पर फरसा से जानलेवा हमला कर बुरी तरह जख्मी कर दिया। जिसके बाद परिवार के अन्य लोग बीच बचाव के लिए आये तो उनलोगों ने भी मोजाहिद, तजमुल, रहमान अंसारी समेत अन्य परिजनों को भी मारकर जख्मी कर दिया और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा और गर्भवती महिला चिराउद्दीन अंसारी की पत्नी के पेट मे रॉड से मारकर जख्मी कर दिया।

वहीं दूसरे पक्ष द्वारा बताया गया कि सोहराब मियां अपनी बाड़ी में ट्रेक्टर से जुताई करवा रहा था, तभी रहमान मियां और उसके परिजन आकर जबर्दस्ती रोक लगाने लगे और संख्या बल दिखाकर बोले की यह मेरा बाड़ी है । यहां से चले जाओ अन्यथा जान से मार देंगे। तभी हो हल्ला सुनकर जब अन्य परिजन पहुंचे तो पहले से मौजूद मोजाहिद, रहमान, झालू, खलील, सलामत, मालू, दाहो, शफाकत, लयाकत समेत अन्य लोगों ने मारपीट शुरू कर दी। उक्त हिंसक घटना में प्रथम पक्ष के एक महिला समेत सात एवं द्वितीय पक्ष के छः लोग घायल हो गये हैं। एएसआई अशोक कुमार पांडे ने सभी घायलों को इलाज के सीएचसी भेज दिया। सीएचसी में प्रथम पक्ष के एक महिला समेत 5 लोग और दूसरे पक्ष के 4 लोगों की स्थिति गंभीर देख रेफर कर दिया है। वहीं स्थिति काफी नाजुक देख चिराउद्दीन अंसारी को बेहोशी हालत में ही बेहतर इलाज के लिए देवघर से राँची रेफर कर दिया गया है।

          इधर घटना को लेकर ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि गौचर जमीन पर अतिक्रमण करके कुछ लोगों ने आपस मे बंटवारा कर लिया है और सभी अपने कब्जे की जमीन पर मकान इत्यादी बनाकर उपयोग भी कर रहे हैं। वहीं पूर्व से भी दोनों परिवारों के बीच विवाद रहा है।

No comments