भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने मनाया काला दिवस।



कुंडहित (जामताड़ा):बुधवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी  के प्रखंड कार्यालय में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया के नेतृत्व में काला दिवस मनाया गया। सरकार के कोविड-19 का गाइडलाइन करते हुए  26मई को मोदी सरकार का कुशासन राज्य 7 साल पूरा होने एवं किसान आंदोलन 6 महीना पूरा होने से आज मजदूर संगठन, विभिन्न किसान संगठन, 12राजनीतिक दलो के पार्टी के बैनर तले एवं काला झंडा दिखाकर पूरे देश में आज काला दिवस मना मनाया गया। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया ने कहा कि मोदी सरकार 7 साल का कुशासन राज में देश का जीडीपी माइनस से नीचे आ गया है। भ्रष्टाचार बड़ा, शिक्षा, स्वस्थ खत्म  हो गया है।लाखों लोगों का नौकरी चला गया। करोड़ों मजदूर का रोजगार छीन लिया, किसान को सड़क पर उतर दीया गया। आज मोदी के शासन काल में गरीब ,मध्यबत्ती ,छोटा व्यवसायो  को बेहाल कर दिया। पूंजीपतियों को  कर दिया मालेमाल ।कोरोना काल के आड़ में मोदी सरकार देश के रेल,भेल ,सेल ,ईसीएल, एयरपोर्ट ,एलआईसी, बीएसएनएल ,आदि सभी सरकारी संस्थाओं को अदानी- अंबानी को बेचकर क्रमशः 432 267 गुना संपत्ति बढ़ोतरी कर दिया है।  पार्टी कार्यालय में काला दिवस मनाते हुए काला बिल्ला लगाकर धरना के माध्यम से भारत सरकार से मांग किया  की किसान विरोधी 3 काला कानून एवं मजदूर विरोधी चार कोड को निरस्त करें ,जरूरी लोगों को केरल सरकार के तर्ज पर चावल, दाल ,आटा ,सहित सभी उपयोग वस्तुएं घर-घर में आपूर्ति करें। कोरोना से मृत परिवार को दस लाख रुपया मुआवजा एवं परिवार में एक नौकरी देने की गारंटी करें ।कोरोना से मरने वाले लोगों की 10 लाख मुआवजा एवं प्रतिमा ₹5000 देने की गारंटी करे, किसान का धान की बकाया राशि अविलंब भुगतान करें ,सभी किसानों को धान बीज खरीफ फसल की बीज खाद आदि निशुल्क मुहैया करें, असंगठित मजदूरों एवं प्रवासी मजदूरों को मनरेगा से 200 दिन का काम देने की गारंटी करें एवं मनरेगा योजना में लूट पर रोक लगाएं, छोटे व्यवसायियों एवं किसानों के कर्ज की वसूली पर रोक लगाई  जाए, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सा की सारी सुविधा सहित डॉक्टर और नर्स रहने की गेरेंटी करें।मौके पर कन्हाई मालपहाड़िया के सहित बादल मंडल मंटू बागती श्रीदाम घोष, अदैत्य घोष, शिव कुमार मंडल आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं