कोविड वेक्सीनेशन को लेकर नारायणपुर के ग्रामीण क्षेत्र के लोग अभी भी लापरवाह , शाम 5 बजे तक इतंजार के बाद तीन केंद्रों से बैरंग लौटे स्वास्थ्य कर्मी



नारायणपुर(जामताड़ा): जामताड़ा जिले में कोविड-19 वेक्सीनेशन में लक्ष्य के अनुरूप प्रगति हो इसको लेकर जिला प्रशासन हरसंभव पहल कर रही है | लेकिन वैक्सीनेशन की जो स्थिति नारायणपुर प्रखंड में है वह चिंताजनक है |अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के द्वारा लाख पहल किए जाने के बावजूद भी नारायणपुर प्रखंड क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में वैक्सीनेशन को लेकर लोग गंभीर नहीं है| वैसे नारायणपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 18 + आयु वर्ग के लोगों के लिए लगने वाले कोविड वैक्सीन शिविर में धनबाद, बोकारो ,गिरिडीह समेत अन्य स्थानों से लोग आकर वैक्सीन ले रहे हैं |लेकिन पंचायत स्तर पर लगने वाले शिविरों में लोग वैक्सीन लेने से कतरा रहे हैं|रविवार को नारायणपुर सीएचसी समेत कुल छः स्थानों पर वेक्सीनेशन शिविरों का आयोजन किया था |जिसमे सीएचसी नारायणपुर में 99लोगों ने वेक्सीनेशन लिए तो वही बुधुडीह पंचायत के चैनपुर में आयोजित  शिविर में 8 लोगों ने वैक्सीन लिए|जबकि कुरता, नयाडीह और करमाटांड़ प्रखंड के शिकरपोषणी पंचायत में लगे वेक्सीनेशन शिविरों में एक भी व्यक्ति वैक्सीन लेने नही पहुँचे जिस कारण स्वास्थ्य कर्मियों को शाम 5 बजे तक का लंबा इंतजार करने के बाद बैरंग लौटना पड़ा| जिला प्रशासन से लेकर प्रखंड प्रशासन के द्वारा लगातार प्रयासों के बावजूद भी नारायणपुर प्रखंड के कई ग्रामीण क्षेत्र के लोग वैक्सीन  लेने से कतरा रहे हैं| ऐसी लापरवाही नारायणपुर प्रखंड क्षेत्र के लोगों पर भविष्य में भारी पड़ सकती है| अब समय है कि प्रशासन ऐसे स्थानों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई करें ताकि वैक्सीन में गति हो सके|वहीँ रविवार को आयोजित वेक्सीनेशन शिविरों के आयोजन में डॉ केदार महतो, प्राणेश मिश्रा, अखिलेश, प्रफुल्ल, मीरा सिन्हा, वीणा तिर्की समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की महत्ती भूमिका रही|

कोई टिप्पणी नहीं