प्रवासी मज़दूरों के लिए पुनः चालू किया गया क्वारंटाइन सेंटर, 4 मजदूर हुए क्वारंटीन



सारठ : ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सरकार के निर्देशानुसार प्रखंड क्षेत्र के बामनगामा पीएचसी को शनिवार से पुनः क्वारंटाइन  सेंटर में तब्दील कर दिया गया है। सरकार के निर्दश के आलोक में बीडीओ साकेत कुमार सिन्हा स्वयं गुजरात के सूरत से वापस लौट रहे अंचल क्षेत्र के बगडबरा पंचायत के गंडाजोरी गाँव के चार प्रवासी मजदूरों को मधुपुर रेलवे स्टेशन से रिसीव कर बामनगामा क्वारंटाइन सेंटर में एक सप्ताह तक क्वारंटीन कर दिया। बीडीओ द्वारा बताया गया की ग्रामीण इलाकों में कोरोना महामारी पर रोक लगाने के लिए प्रवासी मज़दूरों को क्वारंटीन करना अतिआवश्यक है, क्योंकि  ग्रामीण क्षेत्रों में बाहर से आनेवाले मज़दूर होम क्वारंटाइन का पालन नहीं करते हैं। बताया कि बाहर से आने वाले सभी मज़दूरों को क्वारंटाइन कर सभी का जाँच कराया जायेगा एवं रिपोर्ट नेगेटिव आने पर एक सप्ताह के बाद सभी को घर भेज दिया जाएगा। वहीं बीडीओ ने क्वारंटाइन सेंटर का जायजा भी लिया और संबंधित अधिकारियों को साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने का विशेष निर्देश दिया

No comments