राजद प्रभारी संजय भारद्वाज ने हफिजुल के समर्थन में किया दर्जनों गांवों में जनसंपर्क



मधुपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए राजद प्रभारी एवं राजद के प्रदेश सचिव संजय भारद्वाज ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं शोभा नाथ नरोने अरविंद सिंह यादव, चंदन वर्मा, तथा शिव कुमार मिश्रा के साथ दल बनाकर विधानसभा क्षेत्र के देवघर प्रखंड में स्थित बेला, मेथी, टहनिया,अजबरायडीह, दासडिह तथा चांदडिह जैसे करीब एक दर्जन  गांवों में जाकर महागठबंधन प्रत्याशी हाफिज उल हसन अंसारी के पक्ष में सघन प्रचार अभियान चलाया। क्षेत्र के ग्रामीण मतदाताओं को संबोधित करते हुए भारद्वाज ने कहा की 

गंगा तो हमारी धार्मिक आस्था का केंद्र है। हिन्दू धर्म में हमलोग गंगा को देवी मानते हैं, उसकी पूजा करते हैं। लेकिन कुछ लोगों का काम गंगा को प्रदूषित करना है। इसीलिए जब गंगा उफनाती है तो बाढ़ और तबाही लाती है। फिर कुछ दिनों के बाद शांत होकर वापस लौट जाती है। लेकिन पीछे गंदगी, महामारी और बर्बादी छोड़ जाती है। गंगा के इस रुप से सावधान रहने की जरूरत है। उन लोगों से दूर रहने की जरूरत है जो हमारी धार्मिक आस्था का बेजा इस्तेमाल कर रहे हैं और वोट पाने के लिए तमाम अवसर वादी लोगों को बढ़ावा दे रहे हैं।ये ध्यान देने की जरूरत है कि क्षेत्र का विकास बर्बाद ना हो। अभी हफीजुल नए-नए हैं, युवा हैं, इनको अपनी राजनीतिक जड़ जमानी है तो नई-नई योजनाएं लाएंगे।क्षेत्र में विकास करवाएंगे। अभी सत्तारूढ़ सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं तो इस क्षेत्र को पर्यटन के रूप में उभारेंगे। लोगों को सुविधा दिलाएंगे। उनका काम कराएंगे। लेकिन अगर यह हार जाते हैं तो क्षेत्र को क्या मिलेगा? विपक्षी पार्टी केवल सरकार को गाली देने के अलावा क्या करेगी? इसलिए क्षेत्र के विकास का साथ दीजिए। योजनाओं को बर्बाद होने से बचाइए। युवाओं का भविष्य और रोजगार तबाह होने से बचाए। हफीजुल को वोट दीजिए। किसी के बहकावे और बरगलाने में मत फंसिये।

भाजपा वाले जिस गंगा की बात करते हैं दरअसल वह गंगा का डरावना रूप है जिसमें गंगा उफनाई हुई है और अपने बांध को तोड़कर दूसरे दलों में घुस गई है  ऐसी गंगा के नाम पर भाजपा में ही कलह जोरों पर है तो फिर क्षेत्र के विकास की उम्मीद करना बेमानी है। विकास के लिए यू पी ए जैसी सरकार की जरूरत है जो रेलवे को फायदे में चलाती हैं लेकिन मोदी सरकार आते हीइसे घाटे में लाकर प्राइवेट कंपनियों के हाथों में सौंपने की साजिश शुरु होने लगती है यह सरकार देश की संपत्तियों को बेचने में लगी है और ध्यान बताने के लिए सांप्रदायिक ध्रुवीकरण का सहारा लेती है। इसलिए राजद अपील करता है कि आप महागठबंधन प्रत्याशी को वोट देकर क्षेत्र में विकास का रिकॉर्ड स्थापित करने और सामाजिक सद्भाव बनाए रखने में भागीदार बनें।

No comments