स्वास्थय मंत्री जी के द्वारा लगाया गया था बीटीटी के स्थानान्तरण एवं हटाने की प्रक्रिया पर रोक पुनः विभाग के द्वारा बीटीटी का कीया जा रहा है स्थानान्तरण एवं ग्रेडिंग कर कार्यमुक्त



देवघर।पिछले बारह वर्षो से सहिया कार्यक्रम अन्तर्गत कार्य कर रहे बी टी टी को झारखंड के सभी जिलों में कार्यरत कुल चालीस हजार सहिया के कार्यो का सपोटीव सुपरविजन मानिटरिंग सामुदायिक कार्यो को करने हेतू एव सहिया को प्रशिक्षण देते हुए झारखंड मे पाच सो अठासी बीटीटी कार्य करते आ रहे हैं पिछले समय में कोरोना काल मे राज्य सामुदायिक कोषाग राची झारखंड के द्वारा बीटीटी का अपरेजल परीक्षा के बहाने मनमाने तरीके से बीटीटी को ए बी सी ग्रेड देकर स्थानान्तरण कर दिया गया एवं सी ग्रेड बीटीटी को कार्य मुक्त कर दिया गया ।सभी जिले के बीटीटी प्रतिनिधि मंडल के द्वारा माननीय स्वास्थय मंत्री जी से मिलकर आवेदन दिया गया मंत्री महोदय ने कारवाई करते हुए तत्काल रोक लगा दिया गया एव मंत्री के आदेशानुसार सभी बीटीटी अपने-अपने ज़िले में कार्य करने लगे ।लेकिन पुनः सामुदायिक कोषाग राची झारखंड के द्वारा  विभाग मनमाने तरीके से बीटीटी अपरेजल प्रक्रिया के आदेशानुसार पत्र जारी कर दिया गया है जिससे बीटीटी को कोरोना काल में महज आठ हजार के मानदेय में दुसरे जिले में दुर दुर के जिले योगदान करने के लिए विभागीय आदेश जारी कर दबाव बनाया जा रहा है साथ ही बोला जा रहा है कि योगदान नही करने पर कार्यमुक्त समझें जायेंगे। सी ग्रेड बीटीटी को बारह वर्षो से कार्यरत बीटीटी को आप कार्य करने के लायक नहीं है कार्यमुक्त कर दिया गया है। जबकि सभी बीटीटी का चयन स्थानिय प्रखंड एवं जिला में अभ्यर्थी को प्राथमिकता देते हुए सहिया सामुदायिक कार्यो को करने हेतू रखा गया था।बीटीटी की संख्या में कमी होने पर 2016 में सोलह बीटीटी का विभाग के द्वारा बहाली भी कीया गया था आज एक तरफ स्वास्थय विभाग के एक सो चोरानबे प्रखंड सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कोरोना वारियरस के रूप में बीटीटी झारखंड मे लोगों को कोबिड जांच  सैम्पल कलेकशन कोविड टीका कार्यक्रम चालीस हजार सहिया के कार्यो को सहयोग करने कोरोना के खिलाफ जंग लडने हेतू गावं मे जागरुकता अभियान जैसे कार्यो में बीटीटी के द्वारा महत्वपुर्ण कार्य कीया जा रहा है ऐसे कोरोना काल में स्वास्थय विभाग के द्वारा बीटीटी का छंटनी करने जा रही है। सिर्फ इसलिए कि विभाग के द्वारा जालसाजी कर झारखंड के सभी प्रखंडों में प्रखंड वार चार बीटीटी से कार्य कराया गया एवं भारत सरकार को प्रखंड वार दो बीटीटी कार्य करने का रिपोर्ट कीया गया है इतनी बडी जालसाजी   राज्य कार्यक्रम समन्वय अकाई मिज  एवं परशिछण समन्वयक मनीर अहमद के द्वारा सहिया सामुदायिक कोषाग राची झारखंड के द्वारा कीया जा रहा है अपनी नोकरी बचाने के एक सो चोरानबे बीटीटी को अप्रेल जल के बहाने मनमाने तरीके से हटाकर हमारे झारखंड में कुल तीन सो अठासी बीटीटी कार्य करते आ रहे हैं का रिपोर्ट भारत सरकार को भेजने की कोशिश में विभाग लगा हुआ है।पुनः देवघर में बीटीटी प्रतिनिधि मंडल के द्वारा स्वास्थय मंत्री जी से मिलकर आवेदन दिया गया तो उन्होंने कहा था कि जल्द ही आपलोगों को रांची बुला कर वार्ता करूंगा। लेकिन अब तक नही बुलाया गया है ऐसे में झारखंड के सभी जिले के बीटीटी के द्वारा निर्णय लीया गया कि बीटीटी के अपरेजल प्रक्रिया को रद्द नहीं कीया गया ओर बीटीटी को स्थानिय प्रखंड एवं जिला में कार्य करने का आदेश नही दिया गया। सी ग्रेड बीटीटी को वापस बीटीटी में कार्य करने का आदेश दिया जाए मांगे नहीं मानें जानें पर जल्द ही कोरोना काल में ही मजबूरी में अपनी परिवार के लिए रोज़ी रोटी बचाने के लिए बीटीटी के द्वारा  स्वास्थय मंत्री जी के आवास के समय धरना व आमरन अनशन करेगे। एवं कोरोना महामारी के कारण बीटीटी के साथ कोई भी घटनाएं होती है तो विभाग इसके जिम्मेवार होगी क्योकि हम सभी बीटीटी के द्वारा ऐसा निर्णय अपनी नोकरी रोजी रोटी बचाने के लिए कीया जा रहा है ।इसकी जानकारी  अभिषेक ठाकुर प्रदेश अध्यचछ सहिया सामुदायिक परशिछक संघ संघर्ष समिति झारखंड ने दी ।

No comments