स्वच्छता अभियान पर उठ रहा है प्रश्न चिन्ह



मॉडल रेलवे स्टेशन जसीडीह का  स्थान आसनसोल रेल मंडल में स्वच्छता के लिए पहला स्थान का दर्जा प्राप्त है। वहीं स्टेशन परिसर प्लेटफार्म एवं शौचालय की साफ-सफाई पर विशेष ख्याल रखा जाता है। इधर स्टेशन की स्वच्छता बरकरार रखने के लिए युद्धस्तर पर कार्य होता रहता है ।लेकिन एक ऐसी स्थिति स्टेशन से महज 50 मीटर की दूरी पर है । जहां कूड़ा कचरा का अंबार लगा रहता है। जो स्टेशन की साफ सफाई पर सवाल खड़ा करता दिख रहा है। स्टेशन के सारे कूड़ा कचरा को डम्प के अभाव में स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 3 से 50 मीटर की दूरी पर रखा जाता है ।रेलवे के टी आर डी कॉलोनी एवं आसपास के क्षेत्र के लिए यह एक अभिशाप बना रहता है। इतना ही नहीं स्टेशन के आसपास के लोग मॉर्निंग वॉक एवं इवनिंग वॉक के लिए चटर्जी बागान जाते हैं ।वही बारिश के दिनों में प्लेटफार्म 3के आसपास के क्षेत्र दुर्गंध युक्त बना रहता है। इधर रेलयात्री तो प्लेटफार्म नंबर 3 तक कुछ क्षणों के लिए स्टेशन पर ट्रेन के आने का इंतजार करते हैं ।लेकिन टी आर डी कॉलोनी जसीडीह बाजार संथाली के लिए कूड़ा कचरा का ढेर बरहाल एक अभिशाप बना है ।वही रेलवे साइडिंग होने से इस स्थान का महत्व बड़ा रहता है ।मजदूर मजबूरी में दुर्गंध युक्त माहौल में काम करने के लिए मजबूर हैं। लेकिन इस कूड़ा कचरा को  तो न नगर निगम और न ही रेलवे साफ-सफाई करवाता है। देखना यह है की इस और नगर निगम या रेल कब साफ सफाई करवा कर लोगों को स्वच्छ वातावरण देने का प्रयास करती है।

No comments