कुंडहित प्रखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में महुआ बना रोजगार का साधन



कुंडहित( जामताड़ा) :कुंडहित प्रखंड क्षेत्र में महुआ रोजगार का साधन बन गया है जहां पर प्रतिदिन प्रात काल में लोग काफी संख्या में अपने अधीन और जंगली क्षेत्रों में स्थित महुआ पेड़ के नीचे पहुंचकर महुआ चुनने का कार्य कर रहे हैं जिससे लोगों को एक रोजगार भी मुहैया हो रही है तथा इस महुआ से उन्हें प्रतिदिन अच्छी खासी आर्थिक सहायता भी मिल जा रही है लोगों का मानना है कि कुंडहित प्रखंड क्षेत्र में महुआ क्षेत्र वासियों के लिए आर्थिक मदद के रूप में काम करती हैकई लोग महुआ की बिक्री कर प्रत्येक वर्ष हजारों रुपए से लेकर लाखों रुपए की  शुद्ध आमदनी करते हैं यह महुआ आमतौर पर मार्च और अप्रैल माह में प्रकृति स्वरूप गिरती है मालूम हो कि बाजार में अभी महुआ के मूल्य 50 से ₹60 प्रति किलो तक हो गई है जिससे देसी महुआ शराब का निर्माण किया जाता है

No comments