प्रशासनिक उदासीनता के कारण करौं प्रखंड में लगाए गए लॉकडाउन विफल




देवघर:प्रशासनिक उदासीनता के कारण करौं प्रखंड में लगाए गए लॉकडाउन तार-तार हो रहा है।  जिसका उदाहरण बुधवार को करौं में लगने वाले साप्ताहिक हाट है। यहां शारीरिक दूरी का कतई पालन नहीं किया जाता है।  खरीदारी के लिए लोगों का जुटान भेड़ बकरी की तरह होता है। आदमी के ऊपर आदमी पूरा भी बाहर कर सामान खरीदते देखे गए। इतना  होने के बावजूद  प्रशासन द्वारा कोई कारगर कदम नहीं उठाया गया। जिसके चलते लोगों का मनोबल बढ़ता गया और आनन-फानन में लोग खरीदारी करते रहे । वर्तमान में झारखंड में लोक डाउन चल रहा है और रोजाना प्रखंड क्षेत्र में कोरोना मरीज की संख्या बढ़ते जा रहा है. इसके बावजूद भी सामाजिक दूरी का पालन नहीं करना लॉकडाउन फेल होते दिखाई दे रहा है। सरकार द्वारा जिस प्रकार लोगों के सुरक्षा के लिए लॉकडाउन लगाया गया था उसका  करो में कतई पालन होता नहीं दिख रहा है। जिसका खामियाजा लोगों को निकट भविष्य में पड़ेगा। प्रखंड क्षेत्र के प्रबुद्ध लोगों ने प्रशासन से लॉक डाउन का कड़ाई से पालन कराने का मांग किया है। ताकि लोग  भीड़ भाड़ से वॉच सके । वही युवा वर्गों का जमाबड़ा चौक चौराहा में होते रहता है कहीं दुकान चोरी चुपके फुल कर सामान बेच रहे हैं। इस पर भी कार्रवाई करने का मांग किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं