स्लग- दलित परिवार को न्याय दिलाने उतरे पूर्व मंत्री अमर बाउरी।



जामताड़ा : नारायणपुर थाना क्षेत्र के चिरुडीह गाँव से पांच दलित परिवार के लोगों का एक विशेष समुदाय के लोगों द्वारा जमीन कब्जा का मामला में राजनीतिक तूल पकड़ता जारहा है। वहीं इस जमीन कब्जा की बात को उपायुक्त ने आपसी विवाद बताया है और जांच कर दोनों पक्षों को न्याय देने की बात भी कही है। वहीं धारा 145 लगाया गया है जिससे जो लोग जहां रह रहे थे वो वहीं रहेंगें। इसी कड़ी में जामताड़ा भाजपा एस सी मोर्चा के जिला अध्यक्ष निमाई दास के नेतृत्व में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन एस डी ओ कोर्ट के सामने धरना स्थल में दिया। जिसमें पूर्व मंत्री अमर बाउरी पहुंचे साथ ही प्रदेश कार्य समिति सदस्य बीरेंद्र मंडल जिला अध्यक्ष सोमनाथ सिंह और युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष के अलावे पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हुवे। इस धरने के बाद पुलिस व प्रशासन ने पीड़ित परिवार को उनके घर चिरुडीह लेजाने आये थे उसी दरम्यान पीड़ित परिवार के महिला आदस्य बेहोश हो गये। बीरेंद्र मंडल ने कहा की इस जमीन में पीड़ित दलित परिवार को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किया गया था। लेकिन गांव के दबंगों ने 144 लगा कर काम रूवाने का काम किया फिर दबंगों ने स्वयं उस जमीन पर कब्जा जमा लिया। फिर उस जमीन पर 145 लगाया गया जिससे यह स्पष्ट होता है की पीड़ित परिवार ही जमीन का मालिक है। पीड़ित लोग इस जमीन पर वर्षों से निवास करते आरहे हैं। वहीं पूर्व मंत्री ने अमर बाउरी ने खुली चुनौती प्रशासन को दिया है उन्होंने कहा की प्रशासन के सामने लोकतांत्रिक तरीके से पीड़ित परिवार ने सारे दरवाजे खटखटा लिये गये हैं। लेकिन न्याय नही मिला पीड़ित परिवार को प्रशासन जमीन वापस कराये। साथ ही प्रशासन से कहा की पीड़ित परिवार का बाल भी बांका हुआ तो चिरुडीह में एक नया इतिहास रचा जायेगा। 

No comments