देवघर एम्स, सदर अस्पताल और मां ललिता हॉस्पिटल को डेडीकेटेड कॉविड हॉस्पिटल घोषित करें और विद्युत शव दाह गृह को तुरन्त चालू किया जाए: संजय भारद्वाज



प्रसिद्ध समाजसेवी और राष्टीय जनता दल के प्रदेश सचिव संजय भारद्वाज ने देवघर जिले और आसपास के क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के नए स्ट्रेन से संक्रमित मरीजों की संख्या और लोगों की हो रही मौत में लगातार तेज गति से हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए एम्स,देवघर, सदर अस्पताल और मां ललिता हॉस्पिटल को पूर्ण रूप से डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल बनाए जाने की मांग मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से की है। मुख्यमंत्री को प्रेषित पत्र में भारद्वाज ने कहां हैं कि नए स्ट्रेन से मौतों की संख्या लगातार बढ़ रही है और जांच रिपोर्ट भी धोखा खा रही है।ऐसे हालात में जरूरी है कि यहां जांच और इलाज के लिए समुचित व्यवस्था हो, रिपोर्ट समय पर मिले और इलाज तत्काल शुरू किया जा सके। ऑक्सीजन और अन्य जरुरी दवाओं तथा उपकरणों की पर्याप्त व्यवस्था हो। इसके लिए अच्छा होगा कि देवघर में एक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के लिए युद्धस्तर पर कार्रवाई आरम्भ की जाये।

सभी प्राइवेट व सरकारी लैब पूरी क्षमता से टेस्ट करें और

कंटेन्मेंट जोनों में प्राविधानों को सख्ती से लागू कराया जाये और लॉक डाउन की तैयारी कर कम से कम दो सप्ताह का लॉक डाउन लगाया जाय।

हालात इतने भयावह हैं कि लगातार बढ़ रही मौतों की संख्या के कारण श्मशान घाट गोला पर लकड़ियों की भारी किल्लत हो गई है और मृत व्यक्तियों के परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियों की व्यवस्था करने के लिए यहां वहां भटकना पड़ रहा है। इसलिए कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु के बाद उनका सम्मानजनक अन्तिम संस्कार सुनिश्चित किए जाने के लिए नगर निगम लकड़ियों की पर्याप्त व्यवस्था करे और देवघर श्मशान घाट पर बनाए गए विद्युत शव दाहगृह को भी तुरन्त चालू किया जाए । भारद्वाज ने कहा कि विद्युत शव दाहगृह बन कर तैयार है लेकिन लगता है कि नगर निगम के अधिकारी किसी गणमान्य नेता या अफसर से उद्घाटन कराने की बाट जोह रहे हैं। अभी की भयावह स्थिति में युद्ध स्तर पर काम की जरूरत है ताकि हम पिछले साल की तरह इस बार भी इस आपदा से निजात पा सकें।

देवघर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त धार्मिक स्थल है इसलिए यहां बाहर के भी पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है इसलिए कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए गंभीरतापूर्वक तत्काल प्रभाव से कार्यवाही की जाए।

No comments