इस्लाम के अनुसार रमजान का महीना सबसे पवित्र महीना होता है -मोहम्मद सिराज



मधुपुर -मधुपुर शहर के पनाह कोला मस्जिद के सदर अध्यक्ष मोहम्मद सिराज ने प्रेस वार्ता कर कहा की इस्लाम के अनुसार रमजान का महीना सबसे पवित्र महीना होता है रमजान के महीने में नेकियों का सवाब 10 से 700 गुना तक बढ़ा दिया जाता है ।नफील नमाज़ का सवाब फर्ज के बराबर होता जाता है ।रमजान के महीने को तीन भागों में बांटा गया है।

पहले 10 दिन को पहला अशरा कहते हैं जो रहमत का है, दूसरा अशरा अगले 10 दिन को कहते हैं जो मक सूरत का है और तीसरा अशरा आखिरी के 10 दिन को कहा जाता है जो जहन्नम से आजादी का है।रमजान में ज्यादा से ज्यादा कुरान की तिलावत करना नमाज की पाबंदी, फित्रा,जकात और सुधार को अवतार कराना सवाब है,रमजान के महीनों में खाने पीने की चीजों पर काफी एहतियात बरतने की जरूरत पड़ती है।

सहरी के वक्त तला ज्यादा मसालेदार चीज नहीं खाना चाहिए ऐसी चीज खाने से ज्यादा प्यास लगती है सहरी में ओटमील,दूध,ब्रेड और फल सेहत के लिए बेहतर है, खजूर से इफतार करना काफी अफ़ज़ल माना जाता है, लगातार बढ़ते करुणा वायरस के संक्रमण को देखते हुए ज्यादा से ज्यादा हमारे शरीर में विटामिन सी जाए ऐसे फल खाए, नींबू का शरबत, संतरा, कीवी ,तरबूज, आंवला का मुरब्बा का सेवन करें इससे आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक में वृद्धि होगी और अनावश्यक घर से बाहर न निकले सरकार द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का पालन करें!

No comments