देवघर-झारखण्ड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महा संघ के द्वारा विभिन्न मांगों की पूर्ति हेतु विधान सभा के समक्ष धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया।



देवघर-झारखण्ड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महा संघ के द्वारा विभिन्न मांगों की पूर्ति हेतु विधान सभा के समक्ष धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया।धरना प्रदर्शन में 24 जिलों के कर्मचारियों ने भाग लिया।धरना को सम्बोधित करते हुए राज्य के अध्यक्ष गोपाल शरण सिंह ने विस्तार से अपनी बातों को रखते हुए कहा कि कर्मचारियों की समस्या पर राज्य सरकार उदासीन रवैया अपना रही है।वहीं महासचिव सुदेश कुमार ने कहा की इस राज्य के कर्मचारी कोबिड 19 के संक्रमण को रोकने के लिए रात दिन काम किया है वाबजूद राज्य सरकार कर्मचारियों की समस्या पर ध्यान नहीं दे रही है जिससे कर्मचारियों में काफी रोष उतपन्न हो रहा है।निर्वाचन विभाग ,वन विभाग ,स्वाथ्य विभाग में कम्प्यूटर ऑपरेटर जीप चालक आदि को हटाने की साजिश चल रही है।ठेकेदारी प्रथा का महा संघ विरोध प्रकट करती है।वहीं सम्मानित अध्यक्ष सिंघेश्वर सिंह ने कहा कि जेएमएम अपनी चुबावी वादों में कहा था कि कर्मचारियों की समस्याओं के लिए आंदोलन नहीं करना पड़ेगा लेकिन आज तक कर्मचारियों की समस्याओं के परतीं राज्य सरकार गम्भीर नहीं हैं।हजारों हजार पद रिक्त पड़ा हुआ है जिसपर बहाली करने की आवश्यकता है।वहीं धरना प्रदर्शन के दौरान मौके पर श्याम लाल चौधरी,प्रेम प्रसाद,अरुण कापड़ी, वरुण कुमार,जहूर आलम,विनोद तिग्गा, सैलजा नन्दं शर्मा,मीरा कुमारी,ओमप्रकाश सहुअजय मिश्रा,प्रभु दयाल साहू,चन्द्रदीप ठाकुर,प्रदीप तिवारी,मनीष कुमार,दीना नाथ तिवारी,कलावती देवी,प्रदीप कुमार,सुनीता,कृष्णा प्रसाद सहित दर्जनों संघ के लोग मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं