स्थानांतरण नियमावली को शिथिल करते हुए गृह जिला जाने का एक मौका मिले।



देवघर / गृह जिला स्थानांतरण की मांग को लेकर गृह जिला स्थानांतरण शिक्षक संघ की बैठक केकेएन स्टेडियम देवघर में शिक्षक प्रदीप कुमार की अध्यक्षता में आयोजित की गई।

बैठक में गृह जिला स्थानांतरण की दिशा में  चल रहे आंदोलन एवं सरकार द्वारा किए जा रहे पहल को लेकर विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में शामिल एकीकृत गृह जिला स्थानांतरण शिक्षक संघ के प्रदेश प्रभारी दिलीप कुमार राय ने कहा कि गृह जिला स्थानांतरण झारखण्ड की शिक्षा व्यवस्था में सुधार की दिशा में मुख्यमंत्री महोदय का सार्थक पहल होगा। गत 25 दिसम्बर को इसी स्टेडियम से गृह जिला स्थानांतरण के मुद्दे को उठाया गया। आज पूरे प्रदेश के 24 जिलों के शिक्षकों द्वारा इस मांग को लेकर आंदोलन जारी है।

श्री राय ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री महोदय से आग्रह है कि वर्तमान नियमावली के अन्तर जिला स्थानांतरण नियमों को एक बार शिथिल करते हुए हम शिक्षकों को गृह जिला वापस आने का मौका दिया जाए

उन्होंने कहा कि सरकार से हमारा निवेदन है कि वर्तमान में स्थानांतरण हेतु किए जा रहे प्रयोगों को फिलहाल रोकते हुए हमें गृह जिले में स्थानांतरित करें,तत्पश्चात स्थानांतरण के विभिन्न पहलुओं पर सरकार काम करे

वहीं संघ के कुंदन शाही ने कहा कि यह एक सामान्य सी मांग है और इसके पूरा करने से सरकार पर कोई अतिरिक्त वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा और लाखों बच्चों को उनकी मातृभाषा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल पाएगी

वहीं शिक्षक संतोष झा ने कहा कि गृह जिला स्थानांतरण संबंधित किसी प्रकार की समस्या यदि सरकार या विभाग के समक्ष आती है तो हम सभी उस मुद्दे पर बैठकर बातचीत कर समाधान को तैयार हैं। माननीय मुख्यमंत्री महोदय सत्र समापन के बाद इन मुद्दों पर विचार-विमर्श के लिए शिक्षक प्रतिनिधियों को वार्ता के लिए समय दें।

मौके पर शिक्षक निरंजन यादव, गुंजन मंडल, मोहम्मद मुजाहिद हुसैन, अब्दुल हमीद अंसारी, विकास भारती, फुल मनी कुमारी, सुमन कुमारी, राजेंद्र रजक , गौरी देवी, हेमलता देवी, किरण कुमारी ,सुनीता किरण , पुष्पा देवी,  मालती कुमारी,  सुनीता कुमारी , विनीता कुमारी, महादेव कुमार गुप्ता समेत अन्य मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं