अवैध खनन से अरबों के राजस्व की क्षति: अनंत



साहिबगंज संवाददाता:-- पिछले दिनों बोरियो विधायक लोबान हेंब्रम द्वारा जिले में पत्थर व्यवसाय में हो रही लूट और अवैध कारोबार सहित इसके संरक्षण दाता के बारे में खुलासा किया गया था। विपक्ष की भूमिका निभा रहे बीजेपी ने इस मामले को लपक लिया है। झारखंड विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के दौरान मंगलवार को राजमहल विधायक अनंत ओझा ने झारखण्ड विधानसभा में कार्यस्थगन के माध्यम से सदन को जानकारी दी कि साहिबगंज जिला सहित झारखण्ड के कई सीमावर्ती जिलों में प्राकृतिक संसाधनों यथा पत्थर, बालू, लोह अयस्क एवं अन्य खजिन सम्पदा का उत्खनन और अवैध कारोबार बड़े पैमाने पर बदस्तूर जारी है। जिसे विधानसभा अध्यक्ष ने सदन में पढ़कर सुनाया। विधायक अनंत ओझा ने कार्यस्थगन के माध्यम से सदन को जानकारी दी की 02 मार्च को सदन के अन्दर वरीय सदस्य, बोरियो विधायक लोबिन हेम्ब्रम ने साहिबगंज जिला के बिहार राज्य की सीमा पर अवस्थित चेकनाका के सम्बन्ध में सदन को सारी अवैद्य गतिविधियाँ की जानकारी दी कि, किस प्रकार से सुनियोजित तरीके से राज्य के प्राकृतिक संसाधनों, खनिज सम्पदा की लूट हो रही है। जिसमें उन्होनें जल, जंगल और जमीन की लूट की पूरी कहानी विधान सभा में सदन के माध्यम से रखी।आश्चर्यजनक है कि जल, जंगल और जमीन की बात करने वाली वर्तमान यू०पी०ए० सरकार के शासन में इस प्रकार की लूट बदस्तूर जारी है। इसी प्रकार की अवैद्य कारोबार, राज्यों के सीमा से सटे हुए झारखण्ड के अन्य जिलों में पत्थर, कोयला, लोह अयस्क एवं विभिन्न प्रकार के खनिज सम्पदा का अवैध उत्खनन एवं कारोबार जारी है। प्रशासनिक मिलीभगत एवं सत्ता संरक्षण में चल रहे इस प्रकार के गतिविधियों से राज्य को अरबों रूपये की राजस्व की क्षति हो रही है।"राजमहल विधायक अनंत ओझा ने कार्यस्थगन के माध्यम से चर्चा की मांग करते हुए कहा कि उक्त मामले में सदन के सभी कार्यों को रोककर झारखण्ड राज्य को हो रही अरबों रूपये की राजस्व की क्षति सहित उक्त महत्त्वपूर्ण विषयों जैसे संवेदनशील समस्याओं पर चर्चा करायी जाय।वहीं दूसरी ओर शुक्रवार को  झारखंड विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के दौरान  राजमहल विधायक अनंत ओझा ने झारखण्ड विधानसभा में कार्यस्थगन के माध्यम से सदन को जानकारी दी कि साहिबगंज जिला सहित झारखण्ड के सभी जिलों में विभिन्न प्रकृति यथा खास, अनाबादी, गैर मजरूआ, गौचर, रिजर्व फॉरेस्ट एरिया इत्यादि तरह की जमीन का अवैद्य रूप से निबंधन एवं नामांकरण भू-माफियाओं और अंचल, जिला के प्रशासनिक पदाधिकारी के मिलीभगत से बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा एंव अवैद्य क्रियाकलाप की गयी है और जमीन को अवैद्य खेल बदस्तूर जारी है। जिसे विधानसभा अध्यक्ष ने  सदन में पढ़कर सुनाया। विधायक अनंत ओझा ने कार्यस्थगन के माध्यम से सदन को जानकारी दी की राज्य के सभी अंचलो,निबंधन कार्यालय ,अभिलेखागार,बन्दोवस्त कार्यालय में जमीन की फर्जीवाड़ा की जा रही है। इसी क्रम में मेरे राजमहल विधान सभा क्षेत्र के उधवा प्रखण्ड अन्तर्गत मौजा - पतौड़ा, दाग सं० 1322, जमाबंदी सं० 464, रकवा 137 बीघा 18 धूर अनाबादी जमीन को पीरपहाड़ एवं अन्य के नाम पर कर दिया गया है, जो घोर अनियमतिता है। साथ ही दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित खबरों एवं अन्य स्त्रोंतो से भी पता चलता है कि, इसी प्रकार राँची सहित राज्य के अन्य जिला यथा धनबाद जिला में भी भूमि निबंधन एवं दाखिल-खारिज मामले में बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा हुई है। धनबाद  गोविन्दपुर, बाघमारा, धनबाद, बलियापुर आदि अंचलों में बड़े पैमाने पर अंचल अधिकारियों,संबंधित कर्मचारियों और जिला अवर निबंधक व संबंधित कार्यालय के कर्मचारियों की मिली भगत से फर्जी तरीके से निबंधन एवं दाखिल-खारिज कर कमजोर वर्ग के लोगों को बुरी तरह प्रभावित किया गया है। राजमहल विधायक अनंत ओझा ने कार्यस्थगन के माध्यम से चर्चा की मांग करते हुए कहा कि  उक्त मामले में सदन के सभी कार्यों को रोककर साहिबगंज जिला झारखण्ड राज्य के सभी जिलों में हो रही जमीन की अवैद्य निबंधन एवं दाखिल-खारिज मामले में हो रहे अनियमितताएँ जैसे महत्त्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करायी जाय, जिसे उन्होंने  कार्यस्थगन की सूचना विधानसभा अध्यक्ष को दिया।साथ ही राजमहल विधायक अनंत ओझा ने विधानसभा के बजट सत्र के शून्यकाल के दौरान इंजीनियरिंग कॉलेज का मांग किया। विधायक अनंत ओझा ने कहा साहीबगंज जिला, संथाल परगना प्रमण्डल अन्तर्गत सुदूरवर्ती क्षेत्र में स्थित है। साहिबगंज में इंजीनियरिंग महाविद्यालय की स्थापना की माँग स्थानीय छात्र -छात्राएँ विगत 10 वर्षों से करते रहें है, क्योंकि यहाँ के विद्यार्थियों को तकनीकि शिक्षा प्राप्त करने हेतु बाहर जाना पड़ता है। उन्होंने ने कहा इंजीनियरिंग महाविद्यालय के निर्माण की स्वीकृति पूववर्ती सरकार में देने के बावजूद आजतक निर्माण कार्य प्रारम्भ नहीं हो सकी है। विधायक अनंत ओझा सरकार से मांग किया कि साहिबगंज में "इंजीनियरिंग महाविद्यालय" स्थापना हेतु अविलम्ब निर्माण कार्य प्रारम्भ करायी जाय।

No comments