महाविद्यालय मधुपुर सभागार भवन में किया गया व्याख्यान का आयोजन



मधुपुर 18 मार्च  महाविद्यालय मधुपुर के सभागार कक्ष में एक व्याख्यान का आयोजन किया गया। व्याख्यान का विषय "नारी सशक्तिकरण" था। व्याख्यानमाला में मुख्य अतिथि के रुप में मधुपुर नगर थाना के इंस्पेक्टर श्री मनोज कुमार मल्लिक ने अपने व्याख्यान में मौलिक अधिकार के बारे में बताया तथा आईपीसी एवं सीआरपीसी में वर्णित विभिन्न धाराओं से भी सभी बच्चों को अवगत कराया एवं मुख्य रूप से छात्राओं को अपनी प्रतिभा निखारने एवं सफल बनाने के उपाय भी बताएं। उन्होंने "समय का महत्व" बच्चों को विभिन्न उदाहरण देकर समझाया एवं साथ ही उन्होंने मेहनत को सफलता की एकमात्र सीढी बताई। व्याख्यानमाला की अध्यक्षता कर रहे प्रभारी प्राचार्य डॉ रत्नाकर भारती ने कहा कि नारी सशक्तिकरण समसामयिक मुद्दा है एवं सभी को मिलकर मंथन करने की आवश्यकता है। उन्होंने इस बात की ओर ध्यान आकृष्ट कराया कि शिक्षा ही नारी को सशक्त बनाती है एवं आगे भी बनाती रहेगी। व्याख्यानमाला के मंच संचालक श्री होरेन हांसदा अपने संबोधन में छात्राओं को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उन्हें आगे बढ़ने को प्रेरित किया। इस व्याख्यानमाला में डॉ भरत प्रसाद, डॉ रंजीत कुमार, प्रोफेसर विजेंदर तुरी, सुश्री अनीता गुआ हेंब्रम, डॉ अश्वनी कुमार, डॉ उत्तम कुमार शुक्ला, प्रोफेसर सत्यम कुमार, श्रीमती मृणालिनी वर्मा, श्री रंजीत कुमार प्रसाद, प्रोफेसर आशुतोष कुमार, सांजली कौशर, तबस्सुम अंसारी, आरजू बेगम, श्री शिवनंदन राय एवं ढेरों छात्र-छात्रा उपस्थित हुए!

No comments