उपायुक्त ने पोषण जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना



देवघर पोषण पखवाड़ा के तहत आज सोमवार को समाहरणालय परिसर से उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा पोषण जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। साथ ही रथ के सही मोनेटरिंग और शहरी क्षेत्रों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के टोला, मोहल्ला हॉट, बाजार में रथ को भ्रमनसील रहकर लोगों को जागरूक करने का निर्देश उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को दिया। इस दौरान मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि आज के समय में कुपोषण हमारे समाज के लिए एक गंभीर समस्या है। इसे दूर करने के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करते हुए लोगों के बीच जागरूकता लाने की आवश्यकता है। हम सभी को चाहिये कि अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहते हुए दूसरों को भी ऐसा करने हेतु प्रेरित करें। इसके लिए सही आहार,  सही आदतें एवं अपने आस-पास स्वच्छता को बढ़ावा देने की आवश्यकता है।इसके अलावे उपायुक्त ने कहा कि आज भी लोगों के बीच जागरूकता का अभाव है। महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किन-किन चीजों का सेवन करना आवश्यक है, इसकी जानकारी उन्हें उपलब्ध कराई जानी चाहिये, ताकि वे पौष्टिक आहार का सेवन कर स्वयं एवं अपने बच्चे को स्वास्थ्य रख सकें। उन्होंने आगे कहा कि सभी सेविका-सहायिका एवं पोषण सखी अपने कर्तव्य को समझते हुए कुपोषण मुक्त देवघर बनाने के लिए कार्य करें। सभी के सामूहिक प्रयास से हीं लोगों को जागरूक कर कुपोषण मुक्त समाज का निर्माण किया जा सकता है। ऐसे में आवश्यक है कि हम सभी इस कार्य को करने का संकल्प लें और पूरे तत्परता के साथ मिलजुल कर कार्य करें। पोषण रथ के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का किया जाएगा प्रयास उपायुक्त

पोषण रथ के माध्यम से विभिन्न प्रखण्डों, पंचायतों में विशेष रुप से टीकाकरण, खान पान, पौष्टिक आहार, उचित पोषण, स्वच्छता एवं साफ सफाई, डायरिया एवं अनीमिया के रोकथाम पर विशेष जानकारी दी जाएगी। साथ ही गर्भवती महिलाएं, धात्री माताओं तथा नवजात शिशु, किशोरियों एवं बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य बनाये रखने की जानकारियों से अवगत कराएंगे।इस दौरान उपरोक्त के अलावे जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमती कनक तिर्की, विभिन्न प्रखंडो के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, सेविका, सहिया एवं संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं