विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों को दी गई प्रशिक्षण।



नाला ( जामताड़ा)-- नाला प्रखंड के अन्तर्गत गेड़िया शैक्षणिक अंचल के उत्क्रमित मध्य विद्यालय सालूका में गुरुवार को विद्यालय प्रबंधन समिति का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस एक दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षक सह सीआरपी समीर चंद्र महतो ने प्रोजेक्टर के माध्यम से विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों को विद्यालय के सफल संचालन सहित विभिन्न गतिविधियों की जानकारी दी । इस दौरान प्रशिक्षक समीर महतो ने विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों को उनके कर्तव्य एंव कार्य दायित्व के बारे में विस्तृत जानकारी दी । कहा कि जब तक समिति के सदस्य सक्रिय नहीं रहेंगे तब तक विद्यालय का सर्वांगीण विकास संभव नही है । उन्होंने समिति के सदस्यों को प्रतिमाह नियमित रूप से बैठक कर विद्यालय विकास योजनाओं का क्रियान्वयन सही रूप से करने की बातें कही । इस क्रम में उन्होंने वर्तमान समय में चल रहे कोरोनावायरस जैसी महामारी से बचाव के लिए विस्तृत जानकारी देते हुए कोविड-19 एप्रोप्रियेट बिहेवियर को अपनाने के लिए सभी लोगों को प्रेरित किया। वहीं उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में ड्रॉपआउट एक गंभीर समस्या है जिसे रोकना विद्यालय प्रबंधन समिति के एवं  अभिभावको की जिम्मेदारी है ।इस अवसर पर शिक्षक नैनी प्रसाद गोराई ने  शिक्षा के महत्व के बारे में  विस्तृत जानकारी दी। कहा कि शिक्षा एक ऐसा अनमोल धन है जो जिंदगी की आखिरी पड़ाव तक हर समस्याओं के समाधान के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है ।कहा कि शिक्षा को न तो कोई चोर चोरी कर सकता है ना कोई  छीन सकता है। ना ही कोई भाई बहन बंटवारा कर सकता है । इसीलिए बच्चों के अलावे हर आयु वर्ग के व्यक्ति के लिए शिक्षा अहम है।मौके पर विद्यालय के सचिव प्रमोद तांती ,विप्रस अध्यक्ष राजन गोरांई ,सदस्य रिंकु मंडल, विष्णु  गोराई, दिलीप मंडल, मीनू मरांडी, पूरन पाल सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं