पंचायती में हुआ लड़का-लड़की का निकाह कराने पर समझौता थाना क्षेत्र के बसमत्ता गांव का मामला



सारठ :  थाना क्षेत्र के बसमत्ता गांव में एक युवती को गांव के ही युवक द्वारा भगा ले जाने की शिकायत थाने आने बाद दोनों की शादी कराने पर मामला सुलझ गया। मामले को लेकर बताया गया कि बीते 26 मार्च की रात्रि को युवक ने अपने चाचा की लड़की को भगा ले गया। इसको लेकर लड़की के पिता ने थाने में युवक के विरुद्ध लड़की को बहला फुसला कर भगा ले जाने की शिकायत की। जिसके बाद पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी। इसी बीच लड़का-लड़की वापस गांव आ गया। युवक व युवती के पिता दोनों चचेरे भाई है। पुलिस द्वारा कार्रवाई की बात कहने पर 28 मार्च को थाने में ही पंचायती बुलाई गई। जिसमें पंचों ने दोनों पक्षों की बातों को सुनने के बाद दोनों को मुस्लिम रीति-रिवाज से निकाह करने की सलाह दी।  जिसे दोनों पक्षों ने मान लिया और 31 मार्च को गांव में मौलवी व ग्रामीणों के बीच दोनों का निकाह करने का फैसला हुआ। जिसमें लड़की के पिता द्वारा स्वेच्छा से लड़की व दामाद को बतौर उपहार स्वरूप डेढ़ कट्ठा जमीन देने पर भी सहमति हुई। पंचायत में हुए फैसला के बाद दोनों पक्षों ने थाने में पंचनामा देकर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं करने का अनुरोध किया। फैसला कराने में मुखिया प्रतिनिधि संजय मंडल के अलावे अन्य ने सराहनीय प्रयास किया। वहीं पंचों ने भी मामले को लेकर सामाजिक रीति-रिवाज निभाने की बात दोनों पक्षों से कही।

No comments