मनरेगा कार्य की प्रखंड स्तरीय हुई जनसुनवाई।



कुंडहित  (जामताड़ा) :मंगलवार को  प्रखंड सभागार में सोशल ऑडिट यूनिट रांची के तत्वाधान से मनरेगा की प्रखंड स्तरीय जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान मनरेगा के तहत प्रखंड के 9 पंचायतों में कराए गए कार्यों की हुई पंचायत स्तरीय सुनवाई के दौरान प्रखंड स्तर के लिए रेफर किए गए मामलों की सुनवाई की जानी है। इस दौरान कुंडहित प्रखंड के 9 पंचायतों से प्रखंड स्तर पर आए कुल 153 मामलों की सुनवाई की जानी है। उल्लेखनीय है कि वित्तीय वर्ष 2017-18 के प्रखंड स्तरीय जनसुनवाई पूर्व में भी एक बार करवाई गई थी। जिसमें काफी हो हंगामा हुआ था। जिस वजह से सुनवाई की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई थी। कुंडहित वीडियो द्वारा इस जनसुनवाई को फिर से कराने की मांग की गई थी। जिसके बाद उपायुक्त फैंज अक अहमद मुमताज़ के निर्देश पर मंगलवार को पुनः दूसरी बार प्रखंड स्तरीय जनसुनवाई का कार्यक्रम आयोजित किया गया। सुनवाई के दौरान मनरेगा योजनाओं के कार्यान्वयन में बरती गई व्यापक पैमाने पर अनियमितता और धांधली के मामले सामने आ रहे हैं। इस दौरान काम से अधिक निकासी किए जाने के मामले के साथ-साथ बगैर मुखिया के हस्ताक्षर के ही मास्टर रौल की निकासी किए जाने जैसे गंभीर मामले सामने आए हैं। कार्यक्रम के दौरान वरीय पदाधिकारी के रूप में डीआरडीए निदेशक रामवृक्ष महतो मौजूद थे। पारित किए गए मामलों की सुनवाई के दौरान अधिकतर मामलों में आरोपियों को चेतावनी देकर मामले का निष्पादन बीच-बचाव की नीति के तहत कर दिया जा रहा है। वहीं कई मामले में जुर्माना भी लगाया जा रहा है। समाचार लिखे जाने तक सुनवाई का सिलसिला बदस्तूर जारी है। सुनवाई में बतौर जिला परिषद सदस्य भजहरी मंडल, सुभद्रा बाउरी आदि के अलावे सोशल ऑडिट यूनिट की ओर से एसआरपी अमृतराज, डीआरपी पंचम प्रसाद वर्मा, बीआरपी जीवन कुमार नन्दी पंकज कुमार झा, बाबूलाल मरांडी के अलावे संबंधित पंचायतों के मुखिया, कनिया अभियंता, सहायक अभियंता, पंचायत सचिव, रोजगार सेवक तथा मनरेगा से जुड़े लोग मौजूद थे।

No comments