नींद उतनी ही जरूरी है जितना कि खाना और व्यायाम : डॉ. प्रदीप



देवघर  : स्थानीय साइंस एंड मैथेमैटिक्स डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन के बैनर तले विश्व निद्रा दिवस के अवसर पर कुछेक विद्यार्थियों के साथ एक संगोष्ठी का आयोजन सम्पन्न हुआ। मौके पर साइंस ऑर्गनाइजेशन के राष्ट्रीय सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने कहा- आजकल की बदलती जीवनशैली में ज़्यादातर लोगों को नींद न आने की समस्या है। नींद न आने की इस समस्या को इन्सोमनिया कहते हैं। इसका मुख्य कारण टेंशन, वातावरण में बदलाव, हॉर्मोंन्स में बदलाव है। नींद उतनी ही जरूरी है जितना कि खाना और व्यायाम। यदि आपकी नींद पूरी नहीं होगी तो सिर दर्द, पेट खराब जैसी तमाम तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लोगों को नींद के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से ही विश्व निद्रा दिवस के कमेटी द्वारा लोगों को सोने के लाभ बताने के लिए हर साल यह अभियान चलाया जाता है अर्थात विश्व निंद्रा दिवस के रूप में मनाया जाता है। विश्व निद्रा दिवस हर साल मार्च के महीने में दुनिया भर में मनाया जाता है। यह दिन मार्च विषुव से पहले शुक्रवार को वार्षिक रूप से मनाया जाता है। विश्व निद्रा दिवस मनाने का उद्श्य समाज में उम्र बढ़ने और नींद का स्वास्थ्य में क्या अहमियत है, इसके प्रति समाज में जागरूकता बढ़ाने के रूप में मनाया जाता है। स्वस्थ उम्र बढ़ने और बेहतर तरीके से सोने की बेहतर समझ के रूप में उम्र बढ़ने के साथ समाज पर खराब स्वास्थ्य के समग्र बोझ को कम करने में मदद मिलती है। इस वर्ष आज अर्थात 19 मार्च को पूरे विश्व में मनाया जा रहा है। नींद पूरी न होने पर मनुष्य के शरीर में कई समस्याएं उत्पन्न होती है जो की दो तरह का होता है, ट्रान्जिएंट और क्रॉनिक। एक शरीर ठीक से काम करे इसके लिए कम से कम 6-8 घंटे की नींद बेहत जरूरी है। जो लोग कम सोते हैं उनके शरीर में लेप्टिन का स्तर कम होने की संभावना बढ़ जाती है जिसके कारण हमेें भूख ज्यादा लगने लगती है। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग सोना कम कर दिए है जिसके कारण तमाम तरह की समस्याएं रहती हैं। इसी नींद न आने की समस्या को इन्सोमनिया कहते हैं। यह आमतौर पर लाइफ स्टाइल में बदलाव होने की वजह से होता है। जिस तरह से शरीर के लिए तमाम तरह के विटामिनों की जरूरत होती है ठीक उसी तरह से शरीर के लिए नींद भी जरूरी है। सही नींद न होने पर विश्व में लोगों की बढ़ती समस्या को देखते हुए विश्व निंद्रा दिवस अभियान चलाये जाने की पहल शुरू की गयी। इंसान को सही समय पर खाना और सोना बेहत जरुरी है जिससे इंसान को कई तरह की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है और स्वस्थ रहते है। इसीलिए सही नींद सभी के लिए बहुत जरूर है जो तनाव, परेशानी इन सब से हमे दूर रखती है।

No comments