नोनियाद, सरपत्ता तथा जगदीशपुर क्षेत्र में कीटनासियुक्त मच्छरदानी का वितरण एमपीडब्ल्यू तथा सईया द्वारा किया गया!



मधुपुर  शनिवार  अनुमंडलीय  अस्पताल मधुपुर केएमडीडब्ल्यू द्वारा नोनीयाद सरपत्ता तथा जगदीशपुर कलस्टर क्षेत्र मैं सहिया सहिया साथी तथा FL-W के साथ मिलकर गांव गांव जाकर नेशनल वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम के तहत   कीटनासियुक्त मच्छरदानी अर्थात एल एल आई एन का वितरण किया जा रहा है साथ ही सभी लाभार्थी को मच्छरदानी के उपयोग एवं रखरखाव संबंधित जानकारी  एमपीडब्ल्यू अजय कुमार दास, राकेश कुमार, विनोद कुमार दास, राजीव रंजन तथा संजीव कुमार द्वारा प्रदान किया जा रहा है इस दौरान बताया गया कि घर के अंदर अथवा बाहर सोते समय हमेशा कीटनाशक उपचारित मच्छरदानी का इस्तेमाल करें मच्छरदानी के चारों कोणों की रस्सी को अच्छी तरह से बांधकर रखें और इस के निचले हिस्से को गद्दे या चटाई के नीचे दबा दें ताकि मच्छर प्रवेश न कर सके मच्छरदानी को स्वच्छ जगह पर सुरक्षित रखें गंदा होने पर सादे पानी से हल्का रगड़ कर  धोएं निरमा साबुन  गर्म पानी आदि का उपयोग मछरदानी धोने में ना करें जिससे कीटनाशक बरकरार रहे धूप में मछरदानी ना रखें इसे मछली पकड़ने के लिए उपयोग ना करें ना बेचे और ना ही उपहार में किसी को दें मच्छरदानी  के नियमित रूप से उपयोग करने से 6 जानलेवा बीमारियों से बचने में  अहम भूमिका होती है चुकी मच्छर के काटने से मलेरिया फाइलेरिया कालाजार जापानी इंसेफेलाइटिस डेंगू  जीका वायरस  होती है और यदि नियमित रूप से मच्छरदानी का उपयोग करेंगे तो मच्छर के काटने से बचेंगे तथा इस प्रकार इन बीमारियों से बच सकते हैं वितरण कार्यक्रम में  एमटीएस तपन कुमार एमपीडब्ल्यू अजय कुमार दास राकेश कुमार विनोद कुमार  दास संजीव कुमार राजीव रंजन डिंपल कुमारी पूनम चौधरी इशरत परवीन कंचन मिश्रा रजनीकांत मिश्रा नित्यानंद मेहरा श्याम हसदा रूपा देवी मालती देवी आदि  ने कार्य किया!

No comments