दांडी मार्च गांधीजी के दांडी मार्च का मूल उद्देश्य था ब्रिटिश राज्य के एकाधिकार को तोड़ना



झारखंड प्रदेश कांग्रेस सेवादल के प्रदेश उपाध्यक्ष अजय कुमार ने कहां की आज ही के दिन गांधीजी ने साबरमती आश्रम से दुनिया के 10 बड़े आंदोलनों में से एक दांडी मार्च की जो शुरुआत की थी उस मार्च का मूल उद्देश्य अंग्रेजों द्वारा बनाए गए कठोर नमक कानून के एकाधिकार को तोड़ना था गांधी जी के इस ऐतिहासिक मार्चने ब्रिटिश साम्राज्य की नींव हिला कर रख दी थी कहने को तो डांडी मार्च अपने देश के नमक की लड़ाई के रूप में जाना जाता है मगर करने में कोई अतिशयोक्ति नहीं की मार्च ब्रिटिश राज के खिलाफ बगावत का बिगुल बनकर उभरा था स्वतंत्रता आंदोलन पर पड़ा था

No comments