महिला दिवस के अवसर पर बुलाहट संस्था की ओर से एक दिवसीय विचार गोष्ठी का आयोजन बुलाहट परिसर पसिया मधुपुर में किया गया!



मधुपुर महिला दिवस के शुभ अवसर पर बुलाहट संस्था की ओर से एक दिवसीय विचार गोष्ठी का आयोजन बुलाहट परिसर पसीया  मधुपुर में किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि प्राथमिक विद्यालय पसीया की प्राचार्य निरुपमा जी के साथ एवं मंच पर उपस्थित विद्या सिंह बेरनदित तिर्की, गुड़िया मिश्रा, राहिल मुर्मू, एमिली हांसदा आदि ने सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर  कार्यक्रम का शुरुआत किया। एक स्वागत गीत आ गए यहां जावा कदम के द्वारा शांति टू टू रीना टू डू एवं अविनाश हांसद की ओर से प्रस्तुत किया गया विषय प्रवेश संस्था की सचिव बरनोदीत की द्वारा किया गया उन्होंने 8 मार्च महिला दिवस के बारे में विस्तार पूर्वक बातें रखते हुए यह भी कहा कि समाज व्याप्त डायन हत्या  भ्रूण हत्या, दहेज हत्या  बाल विवाह के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कदम उठाने की आवश्यकता है मुख्य अतिथि निरूतमा जी ने कहा कि महिला किसी क्षेत्र में कम नहीं है वह पुरुष से 3 गुना काम करती है उसे हर संभव शिक्षित करना है ताकि पूरे समाज शिक्षित हो सके इस कार्यक्रम में बच्चियों द्वारा गीत, नाच, नारा, पहली आदि प्रस्तुत किया इस कार्यक्रम में महिला किशोरी, बच्चियों में काफी खुशी देखा गया अंत में सारी महिलाएं मिलकर संकल्प लिया कि बेटी को बचाएंगे उसे पढ़ाएंगे हुनरमंद बनाएंगे उसे हर संभव हर क्षेत्र में आगे बढ़ाएंगे कार्यक्रम को सफल बनाने में मंजु, लखी जयवंत अविनाशी आदि ने अहम भूमिका निभाया!

No comments