दहेज रोकथाम को लेकर चलाया जाएगा जागरूकता अभियान! मोहम्मद जहांगीर अंसारी!



मधुपुर 30 मार्च: दहेज एक खतरनाक  और बहुत ही गंभीर बीमारी हैजिसमें लोग फंसते जा रहे हैं। यह एड्स और कैंसर से भी ज्यादा खतरनाक है। अगर इस खतरनाक और बुरी बीमारी को समाज से नहीं मिटाया जाता है, तो बहनों और बेटियों पर हमेशा अत्याचार होगा। अत्याचार होता रहेगा। दहेज के लोभी अपने ऊपर अत्याचार करते रहेंगे। इसलिए, समाज के अंदर जागरूकता लाना बहुत जरूरी है। समाज के सदस्यों को  इस अभियान  के साथ चलना चाहिए और समाज से इस संकट को मिटाने की शपथ लेनी चाहिए। इसे उखाड़ने के लिए,  मिलकर काम करना चाहिए और समाज से इसे मिटाने का संकल्प लेना चाहिए। अल्लाह की मदद से, झारखंड के चार जिलों में दहेज रोक थाम अभियान  शुरू कर दिया गया है। , भाषण हो रहे हैं, बैठकें हो रही हैं, विद्वान और समाजिक लोग एक साथ बैठ कर  इसे समाप्त करने के उपाय कर रहे हैं। और इस अभियान की एक कड़ी 4 अप्रैल 2021 को सुबह 8:30 बजे से रानी  टांड पंडरिया हटिया मेदान जिला गिरिडीह में होगी। यह अनुमान है कि यह बैठक इस संबंध में होगी।  चार जिलों के अलावा, अन्य जिलों के लोग भी भाग लेंगे और इस बीमारी (दहेज) को मिटाने का संकल्प लेंगे ।

No comments