विधिक सशक्तिकरण शिविर (Legal Service-cum-Empowerment Camp) का किया गया आयोजन



दिनांक-06.02.2021 को विधिक सशक्तिकरण शिविर (Legal Service-cum-Empowerment Camp) का आयोजन इंडोर स्टेडियम के सभागार में किया गया। इस दौरान प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश  गौतम कुमार चौधरी एवं उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री द्वारा द्वीप प्रज्जलित कर किया गया। 

इस मौके पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश  गौतम कुमार चौधरी ने कहा कि लोगों के बीच विधिक जागरूकता फैलाये जाने के उद्देश्य से जिला विधिक सेवा प्राधिकार एवं जिला प्रशासन के द्वारा इस शिविर का आयोजन किया गया है, ताकि शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों को योजनाओं की जानकारी प्रदान की जा सके। साथ हीं प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने कहा कि इस प्रकार के शिविर के आयोजन का मुख्य उद्देश्य सरकार द्वारा चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी लोगों को देना है, ताकि जानकारी के अभाव में कोई भी इसका लाभ लेने से वंचित न रह जाय। सरकार द्वारा लोगों के हित में कार्य तो किये हीं जा रहे हैं, परन्तु यह आवश्यक है कि हम अपने अधिकारों से ज्यादा अपने कर्तव्यों को समझे और उसका पालन करें। अगर ऐसी हमारी सोच होगी तभी हम एक जिम्मेदार नागरिक बन कर अपने समाज के विकास में एक अहम भूमिका निभा सकते हैं।

इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि विधिक सशक्तिकरण शिविर (Legal Service-cum-Empowerment Camp) के माध्यम से सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी पहुंचायी जाय, ताकि ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के लोग आत्मनिर्भर व सशक्त बन सके। सरकार व जिला प्रशासन का लगातार प्रयास है कि अंतिम पायदान के अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाया जा सके। ऐसे में आवश्यक है कि योजनाओं का लाभ प्राप्त करने से पहले उसके विषय में जानकारी प्राप्त कर लें, ताकि जानकारी के आभाव में कोई भी व्यक्ति योजनाओं का लाभ लेने से वंचित न रहे। साथ हीं कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि वर्तमान में देवघर जिला अन्तर्गत घटते लिंगानुपात को देखते हुए हम सभी को मिलजुल कर बेहतर तरीके से कार्य करने की आवश्यकता है, ताकि इस घटते आंकड़े को रोकते हुए इसे बेहतर बनाया जा सके। ऐसे में जरूरत है कि हम सभी मिलजुल कर कन्या भू्रण हत्या जैसी कुप्रथा को दूर करते हुए ऐसा करने वाले लोगों को चिन्हित करने का प्रयास करें, जिसमें आप सभी के साथ पूरे जिलावासियों की सहयोग आपेक्षित है।

विधिक सशक्तिकरण शिविर (Legal Service-cum-Empowerment Camp) के दौरान लाभुकों के बीच विभिन्न परिसम्पतियों का किया गया वितरण....

इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश  गौतम कुमार चौधरी एवं उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत 30 लाभुकों का गृह प्रवेश, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अन्तर्गत तृतीय एवं चतुर्थ किस्त का भुगतान 30 लाभूकों को किया गया, 30 लाभूकों मुख्यमंत्री दीदीबाड़ी योजना का लाभ दिया गया एवं मनरेगा के तहत 60 लाभुकों को जाॅब कार्ड वितरण किया गया। इसके अलावे झारखण्ड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के तहत 112 लाभुकों को ग्रीन कार्ड दिया गया। जिला सामाजिक सुरक्षा के तहत 30 लाभुकों के बीच पेंशन वितरण किया गया। नगर निगम की ओर से 20 लाभुकों के बीच प्रधानमंत्री स्वनिघि योजना ऋण वितरण किया गया एवं 12 लाभुकों के बीच ई-रिक्शा वितरण किया गया। साथ हीं श्रमिक सुरक्षा कीट के तहत 06 सुरक्षा कीट, मातृत्व प्रसुविधा योजना के तहत 01 अनुग्रह राशि, मैधावी पुत्र पुत्री सहायता योजना अन्तर्गत 02 अनुग्रह राशि, बी0ओ0सी0डब्लू0 श्रमिक निबंधन 05 निबंधन कार्ड तथा सर्ट पंेट योजना अन्तर्गत 05 सर्ट पंेट एवं साड़ी योजना अन्तर्गत 05 साड़ी दिया गया। जे0एस0एल0पी0एस0 के तहत 135 लाभुकों को सखी मंडल ऋण वितरण किया गया। जिला कल्याण के तहत सावधि ऋण अनुदान योजना अन्तर्गत 23 लाभुकों को दिया गया। कृषि यांत्रिकरण योजना के तहत 02 लाभुकों के बीच स्प्रयेस यंत्र वितरण किया गया एवं 05 मृदा स्वास्थय कार्ड प्रदान किया गया।

इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान वेद व्यास आवास योजना (मछुआ आवास) अन्तर्गत 17 लाभुकों के बीच प्रथम किस्त का भुगतान किया गया एवं 04 मत्स्य किसान क्रेडिट कार्ड वितरण किया गया। प्राकृतिक आपदा (वज्रपात) अंचल- देवीपुर एवं सारवां में 01-01 लाभुकों राशि भुगतान किया गया एवं प्राकृतिक आपदा (अग्निकाण्ड) अंचल- मोहनपुर में 03 लाभुकों को राशि दिया गया। साथ हीं 03 लाभुकों को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम को बैंक ड्राफ्ट दिया गया। के0सी0सी0 ऋण का लाभ 08 लाभुकों को एवं 05 लाभुकों एन0आर0एल0एम0 का लाभ दिया गया। साथ हीं 10 लाभुकों के बीच गोल्डेन कार्ड एवं 10 लाभुकों को दिव्यांग प्रमाण पत्र दिया गया। कार्यक्रम के तहत सुकन्या योजना प्रमाण पत्र 10 लाभुकों को दिया गया।साथ हीं 10 लाभुकों के बीच दिव्यांग यंत्र एवं प्रधानमंत्री मात्री बन्धना योजना के तहत 10 परिसम्पतियों का वितरण किया गया।

इसके अलावे कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विभागों द्वारा लगाए स्टॉल का निरीक्षण कर लोगों को दी जाने वाली योजनाओं व सुविधाओं की जानकारी प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश  गौतम कुमार चौधरी एवं उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री द्वारा ली गई।

इसके दौरान कार्यक्रम के दौरान उपरोक्त के अलावे डालसा सचिव  प्रताप चन्द्रा, रजिस्ट्रार डालसा एमएम प्रधान, जिला आपूर्ति पदाधिकारी विशालदीप खलखो एवं संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

No comments