देवघर कांग्रेस कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन आयोजित



देवघर: गुरुवार को जिला कांग्रेस कार्यालय में केंद्र के मोदी सरकार द्वारा लगातार डीजल, पेट्रोल एवं रसोई गैस में बेतहाशा मूल्यवृद्धि को लेकर एक संवाददाता सम्मेलन आयोजित की गई। संवाददाता सम्मेलन में संथाल परगना जोनल कोऑर्डिनेटर सुल्तान अहमद ने कहा कि वर्तमान में केंद्र के मोदी सरकार द्वारा लगातार गरीब,मजदूर, किसान और मध्यमवर्गीय परिवार पर किसी न किसी रूप से जुल्म ढाने का काम कर रही है। चाहे वह किसानों के खिलाफ तीन काले कानून हो अथवा लगातार डीजल,पेट्रोल एवं रसोई गैस के मूल्य में वृद्धि हो। न जाने चंद पूंजी पतियों के लिए और देश के तेल कंपनियों के फायदे के लिए मोदी जी ने कितनी कसमें खाई है। आज उन पूंजीपतियों के वायदे को पूरा करने के लिए किसानों का बलिदान लेने का काम कर रहे हैं,आम जनों को महंगाई के दलदल में धकेलने का काम कर रहे हैं। जब देश में कांग्रेस की सरकार थी तो राष्ट्र हित में मामूली से मूल्य वृद्धि पर भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता हाय तौबा मचाते थे। उस समय भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं वर्तमान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस की आंशिक वृद्धि पर तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चूड़ी भेज कर विरोध जताने का काम की थी। आज हम पूछना चाहते हैं कि वह मौन क्यों हैं? आज अपने भी प्रधानमंत्री को चूड़ी भेजकर देश की जनता को यह दिखाऐं कि हम वास्तविक में मूल्यवृद्धि के खिलाफ थे। 2008 में जब संप्रग की सरकार थी। लगातार चार वर्षों तक डीजल और पेट्रोल के मूल्य को स्थिर रखने के बाद मामूली से वृद्धि किए थे। तो भाजपा ने तत्कालीन सरकार पर आर्थिक आतंकवाद का आरोप लगाया था। जबकि उस समय अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल ₹120 प्रति डॉलर थे। परंतु 2014 के बाद मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के पश्चात अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम में 55% की कमी आई।  बावजूद आज इस प्रकार की मूल्य वृद्धि होना देश की जनता को कमर तोड़ने का काम कर रही है। देश की जनता के साथ इस प्रकार का मूल्य में इजाफा कर सौतेलेपन का व्यवहार किया जा रहा है। बढ़ती हुई महंगाई भारत की एक बहुत बड़ी गंभीर समस्या बन गई है। इंसान की आजीविका प्रभावित हो रही है। केंद्र सरकार कृषि की घोर उपेक्षा कर रही है  और वहीं काला धन पर चुप्पी मार बैठी है। किसानों की आय दोगुनी करने वाली सरकार उन्हें महंगाई के विक्राल काल के गाल में धकेलने का काम कर रही है। आपने मंहगाई बढ़ते देखा। आलू ने हाफ सेंचुरी लगाई तो टमाटर सेंचुरी, प्याज अपने बढ़े दाम पर खुद रो रही थी। पेट्रोल 100रु प्रति लीटर हो गया है। वहीं पड़ोसी राज्य नेपाल, भूटान, श्री लंका में काफी सस्ता है।आज सरकार की गलत नीतियों के कारण हर क्षेत्र से गरीब,मजदूर, किसान, मध्यमवर्गीय पर आर्थिक बोझ पड़ रहा है। जबकि सारे अभी कोरोना के काल के गाल से उबरे हैं। बढ़े हुए मूल्य के कारण यातायात का साधन महंगा हुआ है, ढुलाई मंगा हुआ है। जिस कारण हर वस्तुओं का दाम आसमान छू रहा है। जिसका असर आज देशवासियों पर पड़ रहा है। सरकार की उजाला गैस योजना के तहत गरीबों को मिला चूल्हा और सिलेंडर घर के लिए शोभा की वस्तु बन गई है। आज पुनः वह माताएं बहने महंगी गैस को जला पाने में असमर्थ होकर पुनः लकड़ी और गोईठा से खाना बनाने पर मजबूर हो गई है। हम अपने  प्रधानमंत्री से कहना चाहेंगे कि आप अहंकार और पूंजीपतियों के साथ खाए हुए सौगंध को त्याग कर देश की जनता की कराह पर एक नजर कभी तो फेर दें। मोदी जी, जर्जर हो रही नींव हमारी ,पर खुद को यह चमकाए हैं,और देश का हाल बुरा है,पर ये विदेशों में छाए हैं।आज कांग्रेस पार्टी जनहित और देश हित में अपने  राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी,नेता राहुल गांधी के आह्वान पर हमारे प्रदेश से अध्यक्ष-सह-मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव के आह्वान पर इस बढ़ती महंगाई के विरोध में आंदोलन करने के लिए तैयार हैं। जिसकी रूपरेखा तैयार की गई है।

26 फरवरी को हम सभी जिला मुख्यालयों में मशाल जुलूस निकालने का काम करेंगें। वहीं 27 फरवरी को हर जिला मुख्यालय पर जोरदार तरीके से सड़क पर उतर कर धरना-प्रदर्शन करेंगें। जब तक बढ़ती हुई महंगाई और डीजल, पेट्रोल एवं रसोई गैस पर बढ़ी मूल्य को वापस लेने का काम नहीं करती है, हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

संवाददाता सम्मेलन में देवघर जिला अध्यक्ष मुन्ना संजय,सेवा दल प्रदेश उपाध्यक्ष अजय कुमार, मिडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल,अवधेश प्रजापति, नगर अध्यक्ष रवि केशरी,महिला अध्यक्ष प्रमिला देवी,ओबीसी अध्यक्षअर्जुन राउत,महिला नेत्री राधापाल,अनिरुद्ध चौबे,अधीर बर्मा आदि मौजूद थे

No comments