सामाजिक कार्यकर्ता और प्रबुद्ध नागरिकों द्वारा हिमालय बचाओ, देश बचाओ राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत गांधी चौक पर चलाया गया जागरूकता अभियान



मधुपुर शनिवार को गांधी चौक पर सामाजिक कार्यकर्ता और प्रबुद्ध नागरिकों द्वारा हिमालय बचाओ देश बचाओ राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत  जागरूकता अभियान चलाया गया। लोगों ने अपने हाथों में नारा युक्त तख्ती लेकर हिमालय बचाने की अपील किया। मौके पर कुंदन कुमार भगत ने कहा कि हिमालय नहीं रहेगा तो देश नहीं रहेगा। हिमालय बचाओ देश बचाओ केवल नारा नहीं है। यह भावी विकास नीतियों को दिशाहीन होने से बचाने का रास्ता है। हिमालय का पानी हिमालय की मिट्टी पूरे देश के काम आती है हिमालय शुद्ध ऑक्सीजन और जड़ी बूटी का भंडार है। हिमालय में उपभोक्तावादी, शोषणयुक्त, अविवेकपूर्ण विकास पर्यावरण असंतुलन इसे नष्ट करने पर तुली है। बाढ़, भूसंखलन मानवकृत आपदाओं से संकट बढ़ता ही जाएगा। हिमालय क्षेत्र के जल, जंगल, जमीन और पर्यावरण को बचाने के लिए हिमालय लोक नीति को लागू करना होगा। राष्ट्रीय हिमालय नीति बनाकर ही हिमालय और देश को बचाया जा सकता है। मौके पर संजय शर्मा, पंकज पीयूष, अबरार ताबिन्दा, जावेद इस्लाम, विजय नारायण भगत, मो. अब्बास, शैलेंद्र गौतम, तुहीन पाल, रतन कुमार वर्मा, सीमांत समेत कई लोग उपस्थित थे!

No comments