भारत के पवित्र भूमि से सूफी संतों ने शांति सौहार्द का संदेश पूरी दुनिया को दिया! प्रेस वार्ता कर बोले सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता सूफी कौशर हसन



मधुपुर 18 फरवरी भारत सदियों से विश्व का सूफिज्म की विचारधारा और आध्यात्मिकता का गुरु है गुरु शिष्य परंपरा सनातन भारतीय संस्कृति का अभीनन अंग है भारत की पवित्र भूमि से सूफी संत मलंग और सन्यासियों ने विश्व को शांति और सौहार्द का संदेश दिया है! यह बातें सूफी इस्लामिक बोर्ड के  राष्ट्रीय प्रवक्ता तथा संगठन प्रभारी सूफी मोहम्मद कौशर हसन मजीदी एडवोकेट ने मधुपुर के मदीना मोहल्ला खानकाह चिश्तिया निजामिया हॉल में प्रेस वार्ता कर पत्रकारों को बताया उन्होंने कहा सूफिया एकराम ने अपनी रूहानी ताकत अपने किरदार अपने गुफ्तार अपने इसार और खुलूस व मोहब्बत से जो इंकलाब बरपा किया इसका असर हिंदुस्तानी तहजीब और ख्यालात पर इस कदर पड़ा किसका असर पूरे हिंदुस्तान  मैं पड़ी  और चमक उठे उन्होंने कहा प्राचीन भारतीय संस्कृति को अपने दामन में समेटने वाले बुजुर्गों ने देश का जनमानस को बिला तफरीक मजहब मिलत अपने आंगन में जगह दी और राष्ट्रीय एकीकरण मैं अपना अतुलनीय योगदान किया है प्रसिद्ध सूफी संत हजरत निजामुद्दीन औलिया और हजरत मखदूम शाह सूफी की दरगाह पर दिवाली की रोशनी तथा हजरत वारिस अलेह रहमतुल्ला की दरगाह पर खेली जाने वाली होली तथा चिश्तिया सिलसिला के सूफी संतो की दरगाह पर मनाए जाने वाले बसंत उत्सव इस तत्व के अमित प्रमाण है!उन्होंने कहा सूफी संतों के खान काहो और दरगाह में जाति मजहब रंग व नस्ल का कोई भेदभाव नहीं होता सभी धर्मों के लोगों को यहां शफकत मोहब्बत हासिल होते रहा  सोफिया संतो ने इस देश में मोहब्बत भाई चारगी अमन शांति  का एक पैगाम देने का काम किया है और अपनी पूरी जीवन इन्हीं सब में गुजार दी है! उन्होंने कहा हिंदुस्तान की सरजमी पर सूफी संतों का इस्लाही और तब्लीगी सर गर्मियों की  शुरुआत सातवीं हिजरी से शुरू हुई हिंदुस्तान के बुजुर्गों में सबसे अहम और सबसे आला  शख्सियत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती रहमतुल्ला  की है जिन्होंने हिंदुस्तान की सर जमीन पर कदम रखते ही चमक उठी और हर तबका के लोग चाहे वह हिंदू हो मुस्लिम हो इसाई हो सभी है फैज  हासिल किए! मौके पर पीरे तरीकत हजरत सूफी शाह कुर्बान अली चिश्ती सूफी इस्लामी बोर्ड के प्रदेश सचिव मोहम्मद शराफत हुसैन चिश्ती देवघर जिला इस्लामिक बोर्ड के जिला अध्यक्ष मोहम्मद अलाउद्दीन हसन बुरहानवी दुमका जिला अध्यक्ष मोइज उद्दीन सिराजी जिला उपाध्यक्ष देवघर जिला इमामुद्दीन तमाम सोफिया एक राम उपस्थित थे!

No comments