चुटोनाथ से आ रही सड़क पर खड़े हाईवा से जा टकराई यात्रियों से भरी बस, करीब एक दर्जन सवारी हुए जख्मी, चालक व कंडक्टर रेफर



देवघर: सोमवार रात्रि देवघर जिले के मोहनपुर थाना क्षेत्र के घोरमारा के समीप यात्रियों से भरी एक बस सड़क पर खड़े हाईवा से जा टकराई। घटना में बस चालक, कंडक्टर सहित करीब एक दर्जन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जिसके बाद सभी घायलों को डायल 108 एंबुलेंस से इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। जहां ऑन ड्यूटी डॉक्टर द्वारा सभी घायलों का प्राथमिक उपचार किया गया। जिसके बाद चालक उस्मान मियां व उपचालाक की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। घटना के संदर्भ में बस के ऑनर बबलू पांडेय ने बताया कि वेलोग अपने मोहल्ले के लोगों सहित अन्य परिचित करीब 30 लोग पूजा करने के लिए बस से चुटोनाथ धाम गए थे। चुटोनाथ धाम में पूजा करने के बाद सभी लोग बस से ही वापस अपने घर आ रहे थे। उसी दौरान तालझारी के आगे घोरमारा के समीप बीच सड़क पर एक हाईवा खड़ी थी। इस दौरान हाईवा के चालक द्वारा सड़क पर गाड़ी खड़ी होने को लेकर कोई इंडिकेटर या अन्य संकेत नहीं दिया गया था। रात की वजह से अंधेरा होने और हाइवा के चालक द्वारा सड़क पर गाड़ी होने की कोई इंडिकेशन नहीं देने के कारण बस जाकर हाईवा में टकरा गई। घायलों में 24 वर्षीय नंदरानी, 30 वर्षीय मुन्ना साह, 32 वर्षीय राजीव कुमार सिंह, 80 वर्षीया नारायणी देवी, 65 वर्षीय संदीप कुमार राउत, 40 वर्षीय विनोद पांडेय, 16 वर्षीय किशोर अंकित कुमार, 48 वर्षीय दिगेंदु कुमार, निर्मल साह, चालक उस्मान मियां, सुलेखा देवी व अन्य लोग शामिल हैं। सभी लोग देवघर नगर थाना क्षेत्र के जलसार रोड महावीर अखाड़ा के समीप, मधुपुर व मारगोमुण्डा के रहने वाले बताए जा रहे हैं।

घटनास्थल पर पहुंचे कृषि मंत्री बादल घायलों को इलाज के लिए भेजा अस्पताल

जिस समय बस दुर्घटनाग्रस्त हुई उस समय पीछे से सूबे के कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के मंत्री बादल पत्रलेख का काफिला भी आ रहा था। दुर्घटना स्थल पर पहुंचने के बाद उन्होंने अपनी गाड़ी रुकवाई। उसके बाद उन्होंने गाड़ी से उतरकर सभी घायलों का हाल जाना। साथ ही उन्होंने घायलों को अस्पताल भेजने के लिए तुरंत फोन करें एंबुलेंस भी बुलवाया। जिसके बाद डायल 108 एंबुलेंस मौके पर पहुंची और सभी घायलों को एंबुलेंस से इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। उसके बाद कृषि मंत्री बादल पत्रलेख भी सदर अस्पताल पहुंचे और ऑन ड्यूटी डॉक्टर को सभी घायलों का अच्छी तरीके से इलाज करने का निर्देश दिया। घायलों के अस्पताल पहुंचते ही ऑन ड्यूटी डॉक्टर व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों ने तुरंत सभी का इलाज शुरू किया। सभी का इलाज करने के बाद डॉक्टर द्वारा चालक व उप चालक की गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया।

बस मालिक ने पीसीआर पुलिस पर लगाया ट्रकों से वसूली करने का आरोप

घटना के संदर्भ में बस के मालिक बबलू पांडेय ने कहा कि घटना की सारी जिम्मेदारी हाईवा चालक की है। हाईवा चालक ने सड़क पर गाड़ी होने के कोई भी संकेत नहीं दिए थे। जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। उन्होंने यह भी कहा कि दुर्घटना में पुलिस की भी भूमिका है। उन्होंने कहा रात्रि समय में पीसीआर पुलिस और पेट्रोलिंग पुलिस सड़कों पर बड़ी वाहनों को रोककर उनसे अवैध वसूली करने का कार्य करती है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस द्वारा बीच सड़क पर गाड़ी खड़ी कर सड़क से गुजरने वाले बड़े वाहनों से अवैध वसूली की जाती है। जिसके वजह से ट्रक व हाईवा पुलिस के जाने के इंतजार में जहां-तहां सड़कों पर अपनी गाड़ी खड़ी कर देते हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा गिट्टी लदे हुए सभी ट्रक व हाईवा से पुलिस अवैध वसूली करती है और पूरी घटना की जिम्मेदारी पुलिस की ही है।

No comments