डायन कुप्रथा को ख़त्म करने के उद्देश्य से किया जा रहा है लोगों को जागरूक



देवघर-(सारठ):-बाल विकास परियोजना के तहत मां शारदा संगीत प्रशिक्षण केंद्र द्वारा डायन कुप्रथा उन्मूलन को लेकर नुक्कड़ नाटक का आयोजन कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

इसी क्रम में सारठ प्रखण्ड के विभिन्न गांवों में दौरा करने के दौरान नुक्कड़ नाटक की टीम स्थानीय सीएचसी पहुंची जहां संगीत के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया।

वहीं आम लोगों में डायन कुप्रथा को लेकर फैली भ्रांतियों को मिटाने का प्रयास किया जा रहा है।मौके पर नुक्कड़ नाटक कर रहे एक शख्स बिभाष शर्मा ने बताया की डायन जैसी कुप्रथा और नारी प्रताड़ना को रोकने के उद्देश्य से हमारी टीम के सदस्य ढोलक हरमुनिया के साथ गीत गाकर लोगों को यह बता रहें हैं कि डायन शब्द का कहीं कोई मतलब नहीं है यह सिर्फ एक भ्रांतियां हैं।

जिसके कारण आये दिन किसी न किसी महिला के साथ अत्याचार हो रहा है जो बन्द होनीं चाहिए इन्हीं सब उद्देश्य को लेकर टीम के सदस्य आम जन को संगीत के माध्यम से यह बात समझाने का प्रयास कर रहे है।

No comments