कार्य में लापरवाही व अनुशासनहीनता बरतने वाले शिक्षकों व कर्मियों पर करें विभागीय कार्रवाईः-उपायुक्त



उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में मध्याह्न भोजन स्टीयरिंग-सह-माॅनिटरिंग कमिटि की समीक्षा बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार में किया गया। इस दौरान शिक्षा विभाग द्वारा किये जा रहे विभिन्न कार्यों के अलावा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा स्तर को बेहतर व सुदृढ़ करने के उद्देश्य से उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को सख्त निदेशित किया कि जिले के सभी स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति व विद्यालय के माहौल को बेहतर बनाने पर जोर दें, ताकि बच्चों को बेहतर परिवेश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जा सके। 

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने जिले के सभी विद्यालयों में गैस चूल्हा एवं गैस सिलेेंडर की उपलब्धता, मध्याह्न भोजन हेतु चावल उठाव में लिफ्टींग की हो रही समस्या को लेकर संबंधित अधिकारियों को जिला आपूर्ति पदाधिकारी के साथ समन्वय स्थापित कर समस्या का समाधान सुनिश्चित कराने का निदेश दिया। समीक्षा के क्रम में उपायुक्त द्वारा स्कूली छात्र-छात्राओं को स्वयं सहायता समूह के माध्यम से पोशाक उपलब्ध कराने को लेकर किये जाने वाले कार्यों की वस्तुस्थिति व प्रारूप से अवगत हुए। साथ हीं उपायुक्त ने डीपीएम जेएसएलपीएस व जिला शिक्षा अधीक्षक को निदेशित किया गया कि सभी प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी के माध्यम से सारे चयनित स्वयं सहायता समूह का भौतिक निरीक्षण कराकर यह जानकारी लिया जाय कि सभी के पास एक बड़ा हाॅल, मशीन, महिला सदस्य, वित्तीय सुविधा, कपड़ा, सुई-धागा आदि की उपलब्धता है अथवा नहीं। यदि कहीं किसी प्रकार की समस्या हो तो उसका अविलम्ब समाधान कराया जाय, ताकि बच्चों के लिए ससमय स्कूल पोशाक स्वयं सहायता समूह की दीदियों या डीवीटी के माध्यम से उपलब्ध कराया जा सके। 

समीक्षा बैठक के क्रम में उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि सभी सरकारी विद्यालयों के रसोईयों के लिए जो भी राशि उपलब्ध करायी गयी है, उसका उपयोग करते हुए सभी को ससमय लंबित वेतनमान भुगतान करना सुनिश्चित करें। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त ने मध्याह्न भोजन में शिक्षकों की अनिवार्यता को कम करने का प्रयास करें, ताकि बच्चों के पढ़ाई-लिखाई पर असर न पड़े। इस दौरान उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों से विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति एवं मेन्यू के हिसाब से बच्चों को उपलब्ध कराए जा खाद्य सामग्रियों की वास्तुस्थिति से अवगत हुए। साथ ही जिला शिक्षा अधीक्षक को निदेशित किया कि राज्य द्वारा निर्धारित लक्ष्य के हिसाब से शत प्रतिशत छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण मध्यान भोजन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसके अलावे बेहतर शिक्षा माहौल उपलब्ध कराने के उद्देश्य से उपायुक्त ने जिला शिक्षा अधीक्षक को माॅडल स्कूलों को चिन्ह्ति करने का निदेश दिया है, ताकि विशेष रूप से इन स्कूलों पर ध्यान देते हेतु शिक्षा स्तर को बेहतर बनाया जा सके। साथ हीं उपायुक्त ने जिले में प्रतिनियुक्त बेहतर कार्य व अनुशासनहीनता बरतने वाले सभी शिक्षकों, कर्मियों व पारा शिक्षकों की सूची तैयार कर उपायुक्त कार्यालय को समर्पित करने का निदेश दिया है, ताकि आवश्यक कार्रवाई की जा सके। वहीं बच्चों के मध्याह्न भोजन में कोताही या लापरवाही पाये जाने पर कड़ी कार्रवाई किये जाने की बात उपायुक्त ने कही। 

इस दौरान उपरोक्त के अलावे उप विकास आयुक्त  संजय सिन्हा, जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री विशालदीप खलखो, जिला शिक्षा अधीक्षक बिना कुमारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी श्रीमती माधुरी कुमारी, डीपीएम जेएसएलपीएस  प्रकाश रंजन, सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी, एफसीआई प्रबंधक के प्रतिनिधि के साथ-साथ संबंधित विभाग के कर्मी आदि उपस्थित थे।

No comments