किसानों के चक्का जाम आंदोलन के समर्थन में महागठबंधन के नेताओं ने सारठ में किया जाम



सारठ : कृषि कानून के खिलाफ पूरे देश मे आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में शनिवार को महागठबंधन के नेता भी सड़क पर उतरे और सारठ चौक में चक्का जाम किया। कार्यक्रम का नेतृत्व झामुमो नेता परिमल सिंह उर्फ भूपेन सिंह ने किया, जिसमें  राजद, कांग्रेस व सीपीआई के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने एक जुटता दिखाते हुए सारठ मुख्य चौक को करीब तीन घंटे तक जाम रखा और सभी नेताओं ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर भड़ास निकालते हुए किसान विरोधी कहा। जिसके बाद थाना प्रभारी करुणा सिंह, एसआई जेएन सिंह, एएसआई विशंभर विश्वकर्मा, अमरेश सिंह आदि ने मौके पर पहुंचकर चक्का जाम कर रहे महागठबंधन के 70 नेताओं व कार्यकर्त्ताओं को गिरफ्तार किया। झामुमो नेता परिमल सिंह ने कहा कि किसान हित की बात करने वाले पीएम मोदी जी आज किसानों के दर्द को नहीं सुन रहे है। लेकिन किसान अपनी वाजिब मांगों पर चट्टान की तरह अडिग है। जब तक केंद्र सरकार ये काला कानून वापस नहीं लेगा आंदोलन जारी रहेगा। आंदोलन में मुख्य रूप से झामुमो के सुरेंद्र रवानी, इश्तियाक मिर्जा, अशोक कुमार सिंह, कांग्रेस के नटराज प्रदीप , राजद के विजय यादव, सुभाष मंडल, सोएब हसन, विजय कोल, कृष्णा मंडल, समीउद्दीन मिर्जा, रेहान मिर्जा, दिलीप सोरेन समेत दर्जनों अन्य मौजूद थे।

No comments