उपायुक्त ने कोविड वैक्सिन टाॅस्क फोर्स की बैठक में जिले में टेस्टिंग और वैक्सिनेशन की गति को तेज करने का दिया निदेश



उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में जिला कोविड वैक्सिन टाॅस्क फोर्स व जिला सर्विलांस कमिटि की समीक्षा बैठक समाहरणालय सभागार में आयोजित की गयी। इस दौरन उपायुक्त ने प्रथम चरण में चल रहे वैक्सिनेशन की प्रक्रिया व वैक्सिन लेने वाले स्वास्थ्य कर्मियों, चिकित्सकों के स्वास्थ्य स्थिति से अवगत हुए। साथ हीं कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे मामलों को लेकर उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को सख्त निदेशित किया कि जिले में कोविड टेस्टिंग व वैक्सिनेशन की गति को बढ़ाने की आवश्यकता है, ताकि सही तरीके से माॅनिटरिंग किया जा सके। वर्तमान में सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के बाद स्कूल, काॅलेज व अन्य सार्वजनिक स्थल आदि पूर्ण रूप से खुल जायेंगे। ऐसे में आवश्यक है कि बाहर से आने वाले लोगों पर विशेष ध्यान दिया जाय। साथ हीं कोविड टेस्टिंग को गति देने के उदेश्य से सभी सरकारी कार्यालयों के अलावा थाना, स्कूल, मंदिर, नगर निगम, बैंक, पुलिस लाईन, बस स्टैंण्ड, रेलवे स्टेशन एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर कैम्प का आयोजन कर कोविड टेस्टिंग की व्यवस्था की जाय, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच की जा सके। 

■ कैम्प का आयोजन कर वैक्सिनेशन की गति को बढ़ाने की आवश्यकताः-उपायुक्त....

इसके अलावे समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने प्रथम चरण के पश्चात द्वितीय चरण में वैक्सिन देने की तैयारियों व अन्य व्यवस्थाओं से अवगत हुए। साथ हीं  नगर निगम के सफाई मित्रो व जिला समाज कल्याण विभाग के कर्मियों, आंगनबाड़ी सेविका, सहायियों को वैक्सिन देने की तैयारियों के अलावा द्वितीय चरण में कर्मियों व अधिकारियों को दिये जाने वाले वैक्सिन के अलावा सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन के अनुसार किये जाने वाले कार्यों को लेकर विस्तृत चर्चा करते हुए उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। समीक्षा के क्रम में उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने कोविड संक्रमण को देखते हुए संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि जिले के सभी सरकारी कार्यालयों में मास्क की अनिवार्यता को पूर्ण रूप से लागू करें। साथ हीं बिना मास्क के कार्यालय में किसी भी व्यक्ति को प्रवेश की अनुमति न दी जाय। 

बैठक के दौरान उपरोक्त के अलावे सिविल सर्जन डाॅ0 एस के मेहरोत्रा, अपर समाहर्ता  चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह, डीआरडीए निदेश नयनतारा केरकैट्टा, डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी रवि कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी  परमेश्वर मुण्डा, जिला शिक्षा अधीक्षक  बीना कुमारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी माधुरी कुमारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी कनक कुमारी तिर्की, अस्पताल उपाधीक्षक  मंजूला मुर्मू, जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी  राजीव रंजन, प्रतिनियुक्त पदाधिकारी जिला जनशिकायत कोषांग डाॅ0 सुनील तिवारी व सत्येन्द्र चौधरी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमारी विद्यार्थी, आईएमए के प्रतिनिधि एवं सभी प्रखण्डों के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, चिकित्सक व संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

No comments