जल संवाद कार्यक्रम के तहत सचिव ने शत प्रतिशत घरों को जल जीवन मिशन से जोड़ने का दिया निदेश



दिनांक-13.12.2021 को सचिव, जल संसाधन सह पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, झारखण्ड सरकार की अध्यक्षता में जल संवाद कार्यक्रम का आयोजन समाहरणालय सभागार में किया गया। इस दौरान उन्होंने वर्तमान समय में चल रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए जल जीवन मिशन के तहत हर घर में नल लगाने की योजना पर विस्तृत चर्चा करते हुए संबंधित विभाग के कार्यपालक अभियंता व अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया।

 इसके अलावा बैठक के दौरान सचिव श्री प्रशांत कुमार ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत 2024 तक सभी परिवारों को नल से जल मुहैया कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस कार्य हेतु सबसे महत्वपूर्ण है कि लोगों को जागरूक करना, ताकि लोग जागरूक होंगे तो लक्ष्य की प्राप्ति आसानी से की जा सकेगी। साथ हीं जल संवाद के माध्यम से मल्टी टोला, सिंगल टोला या जनसंख्या के आधार पर योजना का चयन करते हुए योजनाओं का क्रियान्वयन बेहतर तरीके से धरातल पर उतारा जा सके।जल संवाद समीक्षा बैठक के क्रम में सचिव श्री प्रशांत कुमार ने जल जीवन मिशन के मुख्य उद्देश्य और एक्शन प्लान से सभी को अवगत कराते हुए कहा कि इस मिशन को जन आंदोलन के रूप में धरातल पर उतारने की आवश्यकता है, ताकि आगामी वर्ष 2024 तक सभी परिवारों को नल से जल मुहैया कराने का लक्ष्य पूर्ण किया जा सके।

बैठक के दौरान उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्री मंजूनाथ भजंत्री ने जल जीवन मिशन के तहत देवघर जिलान्तर्गत किए गए अब तक के कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए हर घर तक नल से जल पहुंचाने की कार्य योजना को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया। साथ ही उपायुक्त ने बताया कि जिला स्तर पर ग्रामीण क्षेत्र में करीब 15 प्रतिशत घरों में हाउसहोल्ड कनेक्शन है। जिसे 100 प्रतिशत करने का लक्ष्य है। इसमें जन भागीदारी, जन आंदोलन की आवश्यकता है। इसके अलावे उपायुक्त श्री मंजुनाथ भजंत्री ने जिलावासियों से जल जीवन मिशन को जन आंदोलन बनाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि जैसे स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत आप सभी ने जिला को ओडीएफ बनाया था, जल जीवन मिशन के तहत टीम देवघर के रूप में काम करें और देवघर जिला को मॉडल बनाने में सहयोग करें।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे उप विकास आयुक्त श्री संजय सिन्हा, क्षेत्रीय मुख्य अभियंता राम प्रवेश, डीआरडीए निर्देशक श्रीमती नयन तारा केरकेट्टा, जल संसाधन विभाग व पेय जल एवं स्वच्छता प्रमंडल देवघर, मधुपुर, गोड्डा, दुमका के कार्यपालक अभियंता, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, सभी प्रखंडो के प्रखंड विकास पदाधिकारी, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी, जिला समन्वयक देवघर, मधुपुर, कनीय अभियंता एवं संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

No comments