ममता बिष्ट को 'योगमाया स्मृति महिला सम्मान पुरस्कार'



देवघर  : स्थानीय योगमाया मानवोत्थान ट्रस्ट तथा विवेकानंद शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान के युग्म बैनर तले आगामी सात मार्च को दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में रिलायंस फाउंडेशन, देवघर इकाई के असिस्टेंट प्रोजेक्ट मैनेजर ममता बिष्ट को "योगमाया स्मृति महिला सम्मान पुरस्कार" की मानद उपाधि से अलंकृत एवं विभूषित की जाएगी। इस आशय की जानकारी योगमाया ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष ई. अंजनी कुमार मिश्रा एवं विवेकानंद संस्थान के केंद्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने दी। ममता का जन्म उत्तराखंड में 15 अप्रैल, 1985 को हुआ था। मैट्रिक के पूर्व ही मात्र पन्द्रह वर्ष की उम्र में उनकी शादी हो गई। घरेलू हिंसक अत्याचार के कारण दो संतानो के साथ पति से अलग होना पड़ा। सात साल बाद मैट्रिक फिर इंटर की परीक्षा में उत्तीर्णता हासिल के बाद सन 2014 में सोशियोलॉजी में ग्रेजुएशन एवं 2017 में रूरल डेवलपमेंट में मास्टर डिग्री हासिल की। शुरुआती दौर में ममता ने अपने संतानों की पढ़ाई के लिए दूसरों के घरों में भी छोटा मोटा काम किया। फिर प्रदान में अपनी सेवा दी। राजस्थान में ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर के पद में भी उसने सेवा दी, और वर्तमान में रिलायंस फाउंडेशन में कार्यरत हैं। उन्हें इस फाउंडेशन के द्वारा पूर्व में 'बेस्ट प्रॉमिसिंग वुमन एम्प्लोयी अवार्ड' से सम्मानित किया जा चुका है। ममता को इस सम्मान के लिए अलंकरण हेतु डॉ. नीतू अग्रवाल, डॉ. एकता रानी, ममता किरण, डॉ. चेतना भारती, रेखा कुमारी, सुनीता सिंह, रूपा केशरी व अन्य ने अपनी शुभकामना प्रेषित की।

No comments