महासंघ के राज्य नेता एवं माटी कला बोडॅ के पुर्व सदस्य ने क्षेत्र का किया भ्रमण








साहिबगंज संवाददाता:-झारखण्ड प्रजापति( कुम्हार )महासंघ के राज्य नेता एवं माटी कला बोडॅ के पुर्व सदस्य क्षेत्र भ्रमण के दौरान राजमहल प्रखण्ड एवं तालझारी प्रखण्ड के डेढगाँवा,दूधकोल सगड़भंगा राजमहल सहित कई गाँव मे जा कर कुम्हारों के उनकी समस्याओं से अवगत हुए।उनके आने से कुम्हार समाज को एक नया बल मिला है यहां के कुम्हारों ने बताया कि बोर्ड के तरफ से अभी तक हम लोगों को कोई सुविधा प्राप्त नहीं है सरकारी आवास योजना नहीं मिला है माटी बर्तन बनाने के लिए तैलीय मिट्टी की आवश्यकता पड़ती है जो बहुत ही महंगा है और माटी का भी अभाव है इससे भी हम लोगों का रोजगार प्रभावित होता है डेढ़ गाँवा के 70 वर्षीय वासुदेव पंडित ने बताया की हम लोग यहां 35 घर कुम्हार हैं सभी लोग लगभग माटी बर्तन का ही कार्य करते हैं लेकिन अफसोस की बात है कि हम लोगों को माटी कला बोर्ड के तरफ से किसी प्रकार की सरकारी सुविधा उपलब्ध नहीं है जिस कारण हम लोगों कारोजगार पर असर पड़ा है कोरोना काल में भी इस रोजगार पर बहुत भारी असर पड़ा था।कोरोना काल में भी हम लोगों का काम धंधा ठप हो गया जिसे भुखमरी की नौबत आ गई थी।वही माटी कला बोर्ड के पूर्व सदस्य राजेंद्र पंडित ने बताया कि हम लोग संघर्षरत हैं और उम्मीद है जल्द ही बोर्ड का पुनर्गठन होगा।मौके पर प्रजापति( कुम्हार )महासंघ के जिला कार्यकारी अध्यक्ष प्रजापति प्रकाश बाबा,सुभाष पंडित, संतोष पंडित,अनिल पंडित, दिलीप,सुनील,सुभाष,लोरी, उमा चरण,बलीराम पंडित,पड़ैयाहाट के जगदीश पंडित एवं अनिल पंडित सहित कई लोग उपस्थित थे।


No comments