जिले के स्वास्थ्य व्यवस्था में फैली अराजकता की जांच हेतु कमिटी गठित निदेशक प्रमुख स्वास्थ्य ने दिए निदेश



देवघर/निदेशक प्रमुख ने दिया जांच का आदेश देवघर जिले के स्वास्थ्य विभाग में लगातार हो रही गड़बड़ियों के विभिन्न व्यक्तियों के द्वारा लगातार की जा रही शिकायतों पर विभागीय मंत्री एवं सचिव के निर्देश पर निदेशक प्रमुख के द्वारा  जांच समिति गठित कर सभी मामलों की जांच का निर्देश दिया गया है । दो सदस्यीय जांच समिति में उप निदेशक डॉ कृष्ण कुमार अध्यक्ष और क्षेत्रीय उप निदेशक को सदस्य बनाया गया है । समिति को पन्द्रह दिनों में जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया गया है । पत्र सभी शिकायत कर्ता को भी उपलब्ध कराई गई है । आवेदक सामाजिक कार्यकर्ता देवनन्दन झा ने निदेशक प्रमुख से मुलाक़ात कर जांच हेतु पत्र प्राप्त किया । ज्ञात हो कि झा के द्वारा दिनांक 28/12/20 को स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात कर देवघर के निवर्तमान सिविल सर्जन डॉ विजय कुमार सहित सिविल सर्जन कार्यालय के निवर्तमान प्रधान लिपिक अनूप कुमार वर्मा , वर्तमान प्रधान लिपिक  सविता कुमारी सहित तारकेश्वर कुमार सिंह और मनीष कुमार के खिलाफ साक्ष्य सहित कई गंभीर आरोप लगाते हुए मामले की उच्चस्तरीय जांच कराते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी । इनके अलावा संजय कुमार सिंह, कुमार राज और राकेश कुमार मंडल के द्वारा भी विभिन्न गंभीर आरोप लगाया गया था । इधर सामाजिक कार्यकर्ता देवनन्दन झा ने वर्णित जांच की पूरी प्रक्रिया का विडियो रिकॉर्डिंग कराने की मांग निदेशक प्रमुख से की है । झा ने कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच नहीं होने पर वो न्यायालय की शरण में जाएंगे और सभी भ्रष्टाचारियों को सलाखों के पीछे भेजेंगे । जानकार बताते हैं कि यदि सभी मामलों की निष्पक्ष जांच हो तो सभी कर्मचारियों और अधिकारियों पर कार्रवाई तय है ।

No comments