अनुदान पर मिले वाहन का किया गया दुरुपयोग



देवघर -मत्स्य विभाग द्वारा वर्ष 2018 मार्च माह में समिति को 90 प्रतिशत अनुदान पर पिकप भान दिया गया। पिकप भान से मछली का जीरा, खाद्यान्न पहुंचाने के अलावे तैयार मछली को बाजार तक ले जाने आने का काम करना था। लेकिन अध्यक्ष ने समिति के नाम पर अनुदान पर मीले पिकप भान को निजी कार्य मे उपयोग किया। वहीं उक्त वाहन से अवैध कोयला का तस्करी किया जाने लगा। सदस्यों ने बताया की पिकप भान के बारे में किसी को कोई जानकारी भी नहीं दी गई। जब अध्यक्ष वाहन लेकर गांव आये तब पता चला की समिति के नाम से अनुदान पर वाहन मिला है। अनुदान पर मीले वाहन को दिनेश महतो ने समिति के सदस्यों के जानकारी के बिना अपने नाम से रजिस्ट्रेशन भी करा लिया।

आठ माह से वाहन थाने में खड़ी-गुप्त सूचना पर पिछले 18 मई को चितरा थाना प्रभारी अनिल शर्मा ने पुलिस बल के साथ पलमा मोड़ के पास से अवैध कोयला ले कर जा रहे पिकप भान संख्या जेएच 15 यू 6529 को जब्त कर लिया। अंधेरे का लाभ उठाकर वाहन का मालिक व चालक फरार हो गया। पुलिस ने अवैध कोयला लदे वाहन को थाना ले आया।  इस सम्बंध में चितरा थाना में कांड संख्या 21/2020 के तहत मालिक व चालक पर अवैध कोयला तस्करी का मामला दर्ज किया गया है। 

पिछले आठ माह से पिकप भान थाने में खड़ी है। पुलिस ने अनुसंधान के बाद दिनेश महतो ग्राम मिसराडीह को अवैध कोयला तस्करी के मामले में नामजद अभियुक्त बनाया है। लेकिन आज तक उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है। 

विभाग मोन है उठ रहे है सवाल - समिति के अध्यक्ष सह केज मित्र को अनुदान में मिले सरकारी वहन से अवैध कोयला तस्करी किये जाने का मामला दर्ज होने के आठ माह बितने के बाद भी विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं किया है। बल्कि आज भी विभाग द्वारा केज मित्र को लगभग नो हजार रुपये वेतन का भुगतान कर रहे है।विभाग ने कार्रवाई के नाम पर अध्यक्ष से स्पष्टीकरण पूछ कर खानापूर्ति कर ली है। 

समिति के सदस्यों के अलावे ग्रामीणों ने इस पर कई बार सवाल खड़ा किया। बावजूद विभाग का मोन रहना कई तरह के सवाल खड़ा कर रहा है। की आखिर किसके सह पर विभाग ने मत्स्य मित्र सह समिति के अध्यक्ष पर आज तक कार्रवाई नहीं कि है।

आठ माह बाद भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं : एसपी के निर्देश पर पुलिस मामले में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अभियान चला रही है। लेकिन अवैध कोयला तस्करी के मामले में पुलिस ने आठ माह बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है। जबकि आरोपी खुलेआम थाना क्षेत्र में जहां-तहां घूमते है।

क्या कहते है जिला मत्स्य पदाधिकारी : 

इस सम्बंध में जिला मत्स्य पदाधिकारी दीपक प्रशांत ने कहा कि समिति को दिए गए पिकप भान में अध्यक्ष सह मत्स्य मित्र दिनेश महतो द्वारा अवैध कोयला ढोने की बात सामने आने पर उनसे स्पष्टीकरण पूछा गया है। लेकिन अभी तक उनके द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया है। अन्य आरोप की भी जांच की जाएगी।

अनुसंधान में मिसराडीह गांव के दिनेश महतो के नाम सामने आया है। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजने का निर्देश मामले के आईओ लोहिया उरांव को दे दिया गया है। बहरहाल आरोपी फिरार बताया जा रहा है।

No comments