झारखंड एनएसयूआई ने केंद्र सरकार के खिलाफ ‘नौकरी दो या डिग्री वापस लो' अभियान देवघर जिला में लॉंच किया



सारठ : कांग्रेस छात्र संगठन झारखंड एनएसयूआई ने मंगलवार को देवघर जिले में 'नौकरी दो या डिग्री वापस लो' अभियान की शुरुआत सारठ से की। उक्त बैठक का आयोजन जिला अध्यक्ष मिनहाज मिर्जा के नेतृत्व में हुई, जिसमें एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक सह झारखंड प्रभारी जितेश मिश्रा एवं प्रदेश उपाध्यक्ष इंदरजीत सिंह भी मौजूद रहे।

बैठक को संबोधित करते हुए जितेश मिश्रा ने कहा कि एनएसयूआई के अभियान के पीछे मुख्य उद्देश्य वास्तविकता को सरकार के समक्ष इंगित करना है, क्योंकि सरकार युवाओं को रोजगार देने में कोई दिलचस्पी  नहीं दिखा रही है। वहीं उन्होंने कहा की हम बेरोजगार छात्रों की पांच लाख डिग्री एकत्र करके सरकार को प्रचुर मात्रा में सबूत भी उपलब्ध करायेंगे। वहीं एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष इंदरजीत सिंह  ने कहा कि युवा सशक्तीकरण और रोजगार सृजन सरकार का सबसे महत्वपूर्ण कर्तव्य होना चाहिए। उन्होंने कहा कि

तथ्यों को ध्यान में रखते हुए, भारत की बड़ी चुनौती युवा पीढ़ी को संगठित क्षेत्र में सभ्य काम देना है। जिसका पूरा अभाव देखा जा रहा है। कहा आज सरकार जनता के सामने जो कुछ भी पेश कर रही है वह सच्चाई नहीं है, उन्होंने कहा कि आज देश मे 

बेरोजगारी दर 45 साल में सबसे अधिक हो गया है।

जिला अध्यक्ष मिनहाज मिर्ज़ा ने कहा कि 2014 में भाजपा सरकार ने हर साल दो करोड़ रोजगार के अवसर पैदा करने का वादा किया था, लेकिन केंद्र सरकार के सभी वादे टांय-टांय फीस साबित हुए। मौके पर जयराम पंडित, नटराज जी, नसीम हुसैन, गोलू मिर्ज़ा, रंजीत यादव, जावेद अख्तर समेत दर्जनों एनएसयूआई कार्यकर्ता मौजूद थे

No comments