पंडित दीनदयाल जी कि सिद्धान्तों व सपनों को साकार करना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है.विधायक



साहिबगंज संवाददाता:-- शहर के पश्चिमी फाटक स्थित एस एफ सी गोदाम लाल कोठी मे गुरुवार को जनसंघ के पूर्व अध्यक्ष व भारतीय जनता पार्टी के प्रेरणास्रोत, राष्ट्रवादी नेता  अंत्योदय के प्रणेता  पंडित दीनदयाल उपाध्याय की  पुण्यतिथि को भाजपा ने ‘समर्पण दिवस’ के रूप में स्मरण किया गया। साथ ही पंडित दीनदयाल उपाध्याय के छविचित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित कर नमन किया व उनके बताए मार्गों और आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया।वहीं इस कार्यक्रम कि अध्यक्षता जिलाध्यक्ष रामदरश यादव ने कि मंच का संचालन नगर अध्यक्ष पंकज चौधरी ने किया। साथ ही मुख्य अतिथि के रूप में राजमहल विधायक अनंत ओझा उपस्थित रहे।वही उपस्थित भाजपा के कार्यकर्ताओं ने ‘समर्पण दिवस’ के अवसर पर संगठन के कार्यक्रम व अन्य गतिविधियां सुचारू रूप से संचालित करने के लिए अंशदान के रूप में पार्टी को स्वैक्षिक आर्थिक सहयोग किया। वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजमहल विधायक अनंत ओझा ने कहा कि भारत की धरा पर अनेक युग पुरुष पैदा हुए उनमें से एक पंडित दीनदयाल उपाध्याय भी रहें, जिन्होंने जीवन पर्यन्त समाज के अंतिम पयदान पर खड़े गरीबों, शोषितों व वंचितों के जीवन में खुशहाली व बदलाव लाने की लड़ाई लड़ी। पंडित जी कुशल संगठनकर्ता थे, अंत्योदय और एकात्म मानववाद के जनक रहे. समाज के अंतिम पायदान में खड़े अंतिम व्यक्ति को समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए उनके अंत्योदय के विचारधारा पर चलकर संगठन आज विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनी है. उनके सिद्धान्तों व सपनों को साकार करना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है। श्री ओझा ने कहा आज सामाजिक जीवन में एक नेता को कैसा होना चाहिए, भारत के लोकतन्त्र और मूल्यों को कैसे जीना चाहिए, दीनदयाल जी इसके भी बहुत बड़ा उदाहरण हैं. एक ओर वो भारतीय राजनीति में एक नए विचार को लेकर आगे बढ़ रहे थे, वहीं दूसरी ओर, वो हर एक पार्टी, हर एक विचारधारा के नेताओं के साथ भी उतने ही सहज रहते थे. हर किसी से उनके आत्मीय संबंध थे।दीनदयाल उपाध्याय जी भी यही कहते थे. उन्होंने लिखा था- “एक सबल राष्ट्र ही विश्व को योगदान दे सकता है.” यही संकल्प आज आत्मनिर्भर भारत की मूल अवधारणा है. इसी आदर्श को लेकर ही देश आत्मनिर्भरता के रास्ते पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है। अनंत ओझा ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोनाकाल में देश ने अंत्योदय की भावना को सामने रखा, और अंतिम पायदान पर खड़े हर गरीब की चिंता की. आत्मनिर्भरता की शक्ति से देश ने एकात्म मानव दर्शन को भी सिद्ध किया, पूरी दुनिया को दवाएं पहुंचाईं, और आज वैक्सीन पहुंचा रहा हैं। श्री ओझा ने आगे कहा अंतिम पायदान पर भी खड़े व्यक्ति का जीवन स्तर कैसे सुधरे, जीवन जीने का आसानी  कैसे बढ़े इसके प्रयास आज सिद्ध होते दिख रहे हैं. उज्ज्वला योजना, जनधन खाते, किसान सम्मान निधि, हर घर में शौचालय, हर गरीब को मकान, आज देश एक-एक कदम आगे बढ़ते हुए गौरव के साथ विकास के मार्ग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चल पड़ा है। वहीं, जिला अध्यक्ष रामदरश यादव  ने कहा कि गरीब परिवार में जन्मे पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने विपरीत परिस्थितियों के बावजूद भी उच्च शिक्षा अर्जित की. भारतीय प्रशासनिक सेवा का पद त्याग कर गरीबों के उत्थान के लिए जनसेवा का जो बीड़ा उठाया, वह वास्तव में अद्भुत राष्ट्रीयता का परिचायक है. उनका सम्पूर्ण जीवन भाजपा कार्यकर्ताओं को सेवा भावना के साथ कार्य करने को प्रेरित करता रहेगा। साथ  ही वरिष्ठ नेता गणेश  तिवारी ने कहा पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक प्रखर विचारक, उत्कृष्ट संगठनकर्ता तथा एक ऐसे व्यक्तित्व थे जिन्होंने जीवनपर्यत अपनी व्यक्तिगत ईमानदारी व सत्यनिष्ठा को महत्व दिया।वहीं मौके पर कार्यक्रम प्रभारी सह जिला महामंत्री कुसुमाकर तिवारी ,नगर अध्यक्ष पंकज चौधरी, नगर परिषद अध्यक्ष श्री निवास यादव, उपाध्यक्ष रामानंद साह ,युवा मोर्चा सह मीडिया प्रभारी सुनील सिंह ,जिला मंत्री गौतम यादव, अनुसूचित मोर्चा के अध्यक्ष विनोद चौधरी, जिला कोषा अध्यक्ष महेंद्र पोद्दार, जयप्रकाश सिन्हा ,राजीव चौधरी, प्रमोद पांडेय ,बबलू तिवारी, रमेश कुमार ,संजय पटेल ,लक्ष्मण मोदी ,आमित चौरसिया, अनिमेश सिन्हा, ज्योति शर्मा ,रूबी देवी ,विवेकानंद, अनुज गुप्ता, सौरभ मिश्रा, किशोर सिन्हा ,जय प्रकाश पोद्दार ,हेमन्त तांती, देव कुमार, कौशल किशोर ओझा, संतोष चौधरी, चेतन शर्मा, सैकड़ो की संख्या में कार्यकर्ताओं की उपस्थिति थे।

No comments