कृषि कानूनों के खिलाफ नाला में किया गया सड़क जाम।



संवाददाता नाला (जामताड़ा)--- कृषि कानूनों के खिलाफ नाला में वामपंथियों के द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया | इस दौरान सीपीआई, सीपीआईएमएल , राजद सहित विभिन्न पार्टियों के नेताओं कार्यकर्ताओं के द्वारा नाला- दुमका मुख्य मार्ग आम बागान के समीप सड़क अवरुद्ध किया गया। इस चक्काजाम के दौरान करीब दर्जनों वाहन प्रभावित हुए। कार्यक्रम का नेतृत्व सीपीआई पार्टी के जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया ने की। इस अवसर पर सभी कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार विरोधी नारे लगाए। इस संबंध में जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया ने कहा कि तीन कृषि कानून किसानों के हित में नहीं है। यह पूरे किसान समाज के लिए काला कानून है। जब तक 3 काला कानून को सरकार वापस नहीं लेती है तब तक आंदोलन और उग्र तक होगा। वहीं राजद के प्रदेश सचिव पूर्व प्रत्याशी अशोक माजी ने भी कहा कि मोदी सरकार को किसानों की परवाह नहीं है वह केवल कॉरपोरेट घरानों की हितेषी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि तीन कृषि कानून जब तक वापस नहीं लेती तब तक किसान संगठनों की ओर से आंदोलन जारी रहेगा। वहीं विधि- व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन की तैनाती भी देखी गई। मौके पर सीपीआई के जिला सचिव कान्हाई माल पहाड़िया , अंचल सचिव कालीपद राय , गौर रवानी ,  मृत्युंजय तिवारी , तुषार कांत मंडल,  आयन चंद्र माजी , सुरेश दास, राजद के पूर्व प्रत्याशी अशोक माजी , प्रखंड अध्यक्ष सुदामय घोष , प्रखंड सचिव गणेश भंडारी , अल्पसंख्यक के अध्यक्ष मोहम्मद शरीफ , काशी प्रसाद मिस्त्री,  कांचन पातर, सीपीआई(एमएल) के सुनील राणा ,सुशील महोली ,सुकुमार बाउरी सहित पार्टी के अन्य पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद थे।

No comments