होम गार्ड की मौत पर हुई हाई वोल्टेज ड्रामा आखिरकार हुयी दूसरे दिन खत्म



देवघर-एसपी कार्यालय में कार्यरत होम गार्ड शालिग्राम यादव की मौत पर सदर अस्पताल में खूब हाई बोल्टेज ड्रामा चला था जिसको लेकर पूरे अस्पताल परिसर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था एसपी देवघर को छोड़कर सभी अधिकारी केम्प किये हुए थे।बहरहाल लंबी चली हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद आखिर कार मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में वीडियो रिकॉडिंग के साथ डॉक्टरों की टीम ने मृतक का पोस्टमार्टम कर लिया गया है।

जहां बतौर मजिस्ट्रेट परमेश्वर मुंडा और प्रीति लता किस्कू मौजूद थीं वहीं डॉक्टर्स के टीम में डॉo बीपी सिंह, एन एल पण्डित और अशोक अनुज मुख्य रूप से शामिल थे।

वहीं इस मामले को लेकर कांग्रेसी नेता प्रदीप यादव ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से मिलकर घटना की जांच करवाने की बात कही थी।इसी क्रम में सूत्रों की मानें तो इस घटना को लेकर तीन पुलिस कर्मियों की निलंबन भी हुआ है जिसमें यशवंत सिंह,परवीन कुमार और मोहनपुर थाना प्रभारी सामिल है।

एसपी अस्वनी कुमार सिन्हा ने होम गार्ड की मौत से आहत दुख प्रगट करते हुए कहा की मृतक होम गार्ड का जवान पुलिस परिवार के ही सदस्य थे और विगत 15ह 20 वर्ष से पुलिस अधीक्षक कार्यालय में कार्यरत थे।हम लोगों ने निर्णय लिया है जिला के सभी पुलिस परिवार के सदस्य अपना एक दिन का वेतन मृतक के परिजन को देंगे और नियम अनुसार सरकार के तरफ से जो अनुदान मिलता है उसके लिए कार्यवाई की जा रही है।

No comments