पेट्रोल ,डीजल मूल्य वृद्धि के विरोध में वामपंथी दलों द्वारा प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया गया।



नाला (जामताड़ा) -- डीजल, पेट्रोल मूल्य वृद्धि के विरोध में वामपंथी दलों द्वारा रविवार को नाला आमबागान हनुमान मंदिर के समीप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम का सभापतित्व परेश मंडल ने की वहीं इस कार्यक्रम का नेतृत्व भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया ने की। इस आक्रोश प्रदर्शन सह पुतला दहन कार्यक्रम में सीपीआई ,सीपीआई (एमएल), सीपीएम, वामपंथी दलों के नेता एवं कार्यकर्ता शामिल थे। मालूम हो कि कार्यक्रम के दौरान नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के द्वारा केंद्र सरकार विरोधी नारे भी लगाए गए। इस अवसर पर पुतला दहन कार्यक्रम के पूर्व नाला आमबागान हनुमान मंदिर के समक्ष एक नुक्कड़ सभा का भी आयोजन किया गया। सभा में बारी-बारी से सभी नेताओं ने केंद्र सरकार की गलत नीतियों एवं विरोध में अपना -अपना विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया ने कहा कि ,"यह सरकार जनविरोधी ,किसान विरोधी ,महिला विरोधी सरकार है, यह सरकार कॉरपोरेट घराने को लाभ पहुंचाने के लिए काम करती है। उन्होंने कहा कि सरकार जो भी वायदे किए थे उसे पूरा नहीं कर पाया । यह सरकार झूठ की बुनियाद पर टिकी हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि जब तक तीन काला कानून वापस तथा डीजल ,पेट्रोल ,गैस के मूल्य वृद्धि को वापस नहीं लेती है तब तक केंद्र सरकार के विरोध में नित्य नए हथकंडे अपनाए जाएंगे और निरंतर आंदोलन जारी रहेगा। कार्यक्रम में सीपीआई एम, सीपीआईएमएल,, सीपीआई के सभी नेता एवं कार्यकर्ता बारी बारी से सभा को संबोधित किया। मालूम हो कि नुक्कड़ सभा के पश्चात वामपंथी दलों के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया। इस अवसर पर सीपीआई के जिला सचिव कन्हाई माल पहाड़िया, गौर रवानी ,गौतम खां, आयेन चंद्र माजी ,अजीत माजि, कालीपद राय। सीपीआईएमएल के सुनील राणा, सोमलाल मिर्धा। सीपीआईएम के जिला  कमेटी सदस्य सुकुमार बाउरी, घनश्याम गोरांई, गोलोक डोम, षष्टि बाग्ती ,बबलू गोराई। सहित वामपंथी दलों के कई नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद थे।

No comments