प्रखंड क्षेत्र के आदिवासी गांव में सोहराय पर्व का धूम उफान पर



कुंडहित( जामताड़ा):प्रखंड क्षेत्र आदिवासी बहुल गाव में सोहराय पवॅ की धूम परवान पर है। यह  खरीफ फसल की कटाई के  बाद जनवरी महीना में पाँच दिनों तक मिलजुल कर मनाया जाता है. इसके जरिए एक दूसरे के काफी करीब आते हैं रविवार को उम के साथ पांच दिवसीय सोहराय पर्व का शुभारंभ के साथ दूसरा दिन सोमवार को मरांग बुरु,  कुलदेवता एवं पूर्वजों का पूजा करने के उपरांत गौशाला का पूजा किया गया। वही मंगल मंगलवार को सोहराय पर्व  का तीसरा दिन आदिवासी समाज के लोग खूनटोव का पूजा किया । मौके पर धबना गांव के माझी हड़ाम कारोबारी हँसदा,नायकी बाबूसर मुर्मू ने कहा मंगलवार को पर्व का तीसरा दिन परंपरा के अनुसार गांव के लोग बैल के गले में धान की शिश का माला, गुड़ का पीठा का माला पहनाया गया बेल के साथ खेलते हुए गुड़ का पीठा को छीन कर खाया गया
  वही धबना गांव की युवक-युवती एवं बुजुर्ग ने परंपरागत तरीके से मांदर की थाप पर झूमते गाते एवं नृत्य करते नजर आए।मौके पर जक माजी पाइका मुर्मू,गडित मोहनी हेमरम,जकप्राणी रामधन मुर्मू, प्रमाणिक जयराम मुमूॅ ,सर्वेश्वर सोरेन सहित महिला उपस्थित थे।

मांदर की थाप पर नृत्य करते महिला एवं बुजुर्ग

कुंडहित से चंदन मंडल की रिपोर्ट

No comments