पराक्रम दिवस के अवसर पर महाविद्यालय में हुआ एक दिवसीय विचार गोष्ठी का आयोजन



साहिबगंज संवाददाता:--साहिबगंज महाविद्यालय के बीएड भवन मे शनिवार को एनएसएस इकाई 4 एवं एनसीसी के संयुक्त तत्वावधान में पराक्रम दिवस नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125 वें जयन्ती व जन्मदिवस के अवसर पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।इस कार्यक्रम का संचालन एन एस एस के कार्यक्रम पदाधिकारी नोडल अधिकारी  डॉ रणजीत कुमार सिंह ने किया ।उन्होंने बताया कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं। नेता जी ने भारत को आजादी दिलाने हेतु तत्कालीन भारतीय सिविल सेवा जैसे प्रतिष्ठित पद से भी इस्तीफा दे दिया था। उनके देश सेवा के जज्बे से भारत ही नहीं अपितु संपूर्ण विश्व के युवाओं को प्रेरणा मिलती है।वहीं मौके पर प्रो॰ नितिन कुमार घोष ने बताया कि युवाओं में नेतृत्व शैली के साथ स्वदेश प्रेम की भावना होनी चाहिए। वहीं श्री  हिंमाशु शेखर गुहा ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्म व उनके जीवन के रोचक तथ्यों को विस्तार से जानकारी दी। प्रो॰ ध्रुव ज्योति सिंह ने बताया कि नेताजी का सपना था कि  स्वतंत्र भारत  के युवा संपूर्ण विश्व में अपना परचम लहराए। समाज तथा देश की उन्नति में सहायक हो। इसके लिए एनएसएस और एनसीसी के छात्र बहुत ही कर्त्तव्यनिष्ठा से अपनी भूमिका निभा रहे हैं ।मौके पर  एन सी सी की अमीषा व आकाश तथा  एनएसएस स्वयंसेवक अमन कुमार होली ने अपने अपने विचार रखते हुए कहा कि नेताजी के आजाद हिंद फौज के निर्माण, उनके अपने जीवन के नेतृत्व क्षमता व स्वतंत्रता  आंदोलन में उनकी भूमिका पर प्रकाश डाला।इस अवसर पर एनसीसी तथा एनएसएस  के बहुत सारे छात्र छात्राओं ने अपने विचार रखें।इस अवसर पर महाविद्यालय प्रांगण में 5  अमला व अमरूद का पेड़ लगाकर नेताजी कि देश को स्वतंत्र कराने में की गई अतुलनीय भूमिका के लिए उन्हें याद किया गया और उनको श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

No comments